माहवारी और प्रजनन के बारे में बताने वाला ऐप

गर्भधारण से लेकर माहवारी तक से जुड़े लक्षणों को बताने वाला एक ऐप तैयार किया गया है.

प्रजनन स्वास्थ्य पर नज़र रखने वाला यह ऐप महिलाओं में होने वाली माहवारी, प्रजनन और माहवारी से पहले मूड में होने वाले बदलावों का पूर्वानुमान लगा सकता है.

इस कदम को उसी तरह से देखा जा रहा है जैसे 1960 के दशक में गर्भनिरोधक गोली की खोज को देखा गया, जिसने सेक्स और सामाजिक व्यवहार के क्षेत्र में क्रांति ला दी थी.

क्लू नाम के इस ऐप की चीफ एक्जीक्यूटीव और सह-संस्थापक इडा टीन के मुताबिक आज की तारीख में औरतों के लिए यह जानना क्रांतिकारी बात है कि उन्हें माहवारी कब आएगी.

इमेज कॉपीरइट

हालांकि क्लू कोई गर्भनिरोध में काम आने वाला ऐप नहीं है.

इस ऐप का आइडिया इडा के निजी अनुभव से आया है.

उनका कहना है, "प्रजनन स्वास्थ्य हमारे जीवन का बुनियादी और केंद्रीय मुद्दा है."

वो बताती हैं, "मैं करीब 30 साल की थी और गर्भनिरोधक गोली नहीं ले रही थी क्योंकि ये गोलियां मेरे लिए ठीक से काम नहीं करती थीं. मैं अचरज में थी कि कोई स्वास्थ्य के इस हिस्से को ठीक से व्यवस्थित करने के लिए कोई तरीका क्यों नहीं ढूंढ़ता."

इमेज कॉपीरइट

वो आगे बताती हैं, "क्लू पूरी तरह से महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए है. यह महिलाओं को स्वास्थ्य संबंधी फ़ैसले लेने और उसे सुधारने की सहूलियत देती है."

यह ऐप तीन साल पुराना है. दुनिया भर के 180 देशों में 20 लाख से ज्यादा महिलाएं इसे इस्तेमाल करती हैं.

यह ऐप मुफ्त है और कंपनी को फिलहाल इससे कोई फायदा नहीं मिल रहा है.

इमेज कॉपीरइट

इडा टीन उम्मीद करती हैं कि अगले कुछ सालों में कंपनी को मुनाफा मिलेगा.

इडा ने शुरू से ही यह तय कर रखा था कि ऐप को 'गुलाबी' या 'गर्ली' डिजाइन नहीं देना है.

कंपनी का जोर ऐप को ज्यादा से ज्यादा वैज्ञानिक स्वरूप देने पर है.

इमेज कॉपीरइट

इडा का कहना है कि इस ऐप का इस्तेमाल महिलाएं अलग-अलग मकसदों से कर रही हैं.

"कुछ महिलाएं इसका इस्तेमाल गर्भवती होने के लिए, कुछ गर्भ निरोधक गोलियों को लेने का समय याद रखने के लिए और कुछ डॉक्टर को मासिक चक्र का पूरा ब्यौरा देने के लिए करती हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार