फ़ोन में वायरस से निपटने के क्या हैं उपाय

स्मार्ट फ़ोन इमेज कॉपीरइट Reuters

आपका स्मार्ट फ़ोन हर समय इंटरनेट से कनेक्टेड रहता है और ये सिर्फ एक कारण है कि उसमे वायरस का ख़तरा हमेशा बना रहता है. कभी कभी हैकरों के कारण आपके स्मार्ट फ़ोन में वायरस भी पहुंच सकता है.

अक्सर ये सलाह होती है कि अगर वायरस है तो आपके स्मार्ट फ़ोन को फ़ैक्ट्री रिसेट करना पड़ेगा ताकि उसे पूरी तरह से दूर किया जा सके.

फ़ैक्ट्री रिसेट करने में दिक्कत ये है कि आपका सभी डेटा-गेम्स, फ़ोटो, मैसेज स्मार्ट फ़ोन से मिट जाता है.

आइये आपको वायरस से बचने के कुछ तरीक़े बताते हैं ताकि अगर फ़ैक्ट्री रिसेट करना भी पड़े तो वो आपका अंतिम विकल्प हो.

इमेज कॉपीरइट Getty

पहले तो ये देखिए कि वायरस की परेशानी क्या सिर्फ उसी समय होती है जब आप एक ऐप चलाते हैं?

क्या आपने गूगल प्ले स्टोर के अलावा कहीं से कोई ऐप डाउनलोड किया था?

और, क्या ये परेशानी तब शुरू हुई जब आपने कोई ऐप डाउनलोड किया था?

अगर आपका जवाब इनके लिए 'हां' है तो आपको वायरस के लिए चेक करना पड़ेगा.

सबसे पहले एंटी वायरस इनस्टॉल करके अपने स्मार्ट फ़ोन को स्कैन कर लीजिए.

स्मार्ट फ़ोन के लिए सबसे जाना मान एंटी-वायरस ऐप में कई नाम आ सकते हैं. उनमें से अगर आप कोई एक चुनना चाहते हैं तो यहां पर और जानकारी मिल जाएगी.

इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

एंड्राइड स्मार्ट फ़ोन को 'सेफ़ मोड' में भी बूट किया जा सकता है. जिसके बाद धीरे धीरे आप फ़ाइल चुन करके उन्हें डिलीट कर सकते हैं.

जब स्मार्ट फ़ोन सेफ़ मोड में चलेगा तो सभी ऐप काम करना बंद कर देते हैं और उनका डेटा कनेक्शन बंद हो जाता है. ऐसा आपके डिवाइस की सुरक्षा के लिए किया जाता है.

एंड्राइड 4.0 या उसके बाद के ऑपरेटिंग सिस्टम में आप आसानी से स्मार्ट फ़ोन को सेफ़ मोड में बूट कर सकते हैं. लेकिन उससे पुराने डिवाइस के साथ भी ऐसा किया जा सकता है.

एंड्राइड 4.0 या उसके पहले के ऑपरेटिंग सिस्टम अपनी डिवाइस को ऑफ़ कर दीजिए. अपने डिवाइस के ऑन-ऑफ़ बटन को थोड़ी देर तक दबा कर रखिए.

जब आपको अपने स्मार्ट फ़ोन का लोगो दिखता है तो वॉल्यूम ऊपर और नीचे वाले बटन को दबा कर रखिए जब टेक डिवाइस की बूटिंग पूरी नहीं हो जाती. उसके बाद आप सेफ़ मोड में होंगे.

इमेज कॉपीरइट AFP Getty Images

एंड्राइड 4.0 के बाद के ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए अपने डिवाइस के ऑन-ऑफ बटन को दबा कर रखिए जब तक एक पॉप अप नहीं दिखाई देता है.

उसके बाद आपको ओके को क्लिक करना होगा जिससे आपका डिवाइस सेफ़ मोड में बूट होगा.

उसके बाद आप अपने उन फ़ाइल को डिलीट कर सकते हैं जिन्हें आपको नहीं चाहिए. सबसे बढ़िया होगा कि आपने जो भी ऐप डाउनलोड किए हैं उन्हें डिलीट कर दीजिए.

उसके बाद वायरस की परेशानी तुरंत काबू में आ जाएगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार