सोशल-'मन की बात हुई, अब काम की बात करो'

इमेज कॉपीरइट AP

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रेडियो पर भारत के लोगों को एक बार फिर 'मन की बात' के ज़रिए संबोधित किया.

इसमें उन्होंने कश्मीर समस्या, कश्मीर के लोगों और सुरक्षा बलों के हौसले, उड़ी में हुए चरमपंथी हमले और भारत-पाकिस्तान तनाव के बारे में बात की. उन्होंने पैरालंपिक गेम्स में भारत के अच्छे प्रदर्शन की भी चर्चा की.

इमेज कॉपीरइट Twitter

सोशल मीडिया पर इसके फ़ौरन बाद 'मन की बात' टॉप ट्रेंडिंग टॉपिक बन गया.

लोगों ने नरेंद्र मोदी की काफ़ी तारीफ़ भी की और कई लोगों ने आलोचना की. वहीं मज़ाक उड़ाने वालों की भी कमी नहीं थी.

संजय तिवारी नाम के ट्विटर यूज़र लिखते हैं, "प्रधानमंत्री जी, आपकी बात सुनकर ज़बरदस्त ऊर्जा का संचार होता है. आप देश का सर गर्व से ऊंचा कर रहे हो."

तो वहीं मनोज द्विदी लिखते हैं, "नरेंद्र मोदी की पहचान अब तक एक कुशल प्रशासक, मज़बूत और जनप्रिय नेता के तौर पर थी. लेकिन आज मन की बात से उन्होंने दिखा दिया कि वो ख़ासे आध्यात्मिक भी हैं."

वहीं सुजित पाणिग्रही के मुताबिक़, "मन की बात से कुछ नहीं होता साहब. कुछ एक्शन लीजिए अब."

इमेज कॉपीरइट Twitter

वहीं @Vishayak ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया, "मैं नोबल शांति पुरस्कार कमेटी से अनुरोध करूंगा कि इससे पहले मोदी जी देश का कुछ नुकसान करें उन्हें ये पुरस्कार दे दो."

@AbsurdeStan के ट्विटर हैंडल का ट्वीट था, "मन की बात तो बहुत की आपने. अब काम की बात भी कर लो."

ऋषिकेश कुमार नरेंद्र मोदी पर व्यंग्य करते हुए लिखते हैं, "मित्रों, देखा, मैंने क्या ज़बरदस्त भाषण देकर पाकिस्तान की छुट्टी कर दी. चलो अब जुट जाओ फिर सफ़ाई अभियान में."