पीएम से माफ़ी मांगने को नहीं कहा: अनुराग

इमेज कॉपीरइट AFP and Anurag Twitter

फ़िल्मकार अनुराग कश्यप ने फ़िल्म 'ऐ दिल है मुश्किल' को लेकर किए गए उनके ट्वीट और उससे पैदा हुए विवाद पर अपनी बात फ़ेसबुक पर साफ़ की है.

करण जौहर की फ़िल्म 'ऐ दिल है मुश्किल' में पाकिस्तानी कलाकार फ़वाद ख़ान के होने की वजह से महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने ऐलान किया है कि वो इस फ़िल्म को रिलीज़ नहीं होने देंगे.

जिस पर अनुराग कश्यप ने करण जौहर के प्रति समर्थन जताते हुए ट्वीट किया था जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पाकिस्तान यात्रा का भी ज़िक्र था जिसमें अनुराग ने लिखा था, "क्या प्रधानमंत्री जी ने इसके लिए माफ़ी मांगी थी."

इमेज कॉपीरइट ANURAG KASHYAP FB

इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर कई लोगों ने उनकी आलोचना की थी.

अनुराग ने इस सारे विवाद पर लिखा है, "मैंने प्रधानमंत्री जी से कभी माफ़ी मांगने के लिए नहीं कहा. (जैसे कि ज़्यादातर मीडिया ने हेडलाइन दी क्योंकि उनके पास ख़ुद का दिमाग़ तो है नहीं). मैंने सिर्फ़ मौजूदा स्थिति का सही विश्लेषण करने की कोशिश की कि पीएम शांति की बात करने के लिए पाकिस्तान गए. ठीक उसी वक़्त एक फ़िल्मकार पाकिस्तानी कलाकार को लेकर एक फ़िल्म की शूटिंग कर रहा होता है. दोनों में से किसी का नहीं मालूम था कि आगे क्या होने वाला है या देश के लोगों का मूड क्या होगा. उसके बाद भी दोनों में से सिर्फ़ एक को ही इस बात की क़ीमत क्यों अदा करनी पड़ रही है."

अनुराग ने एक बार फिर कहा कि फ़िल्म इंडस्ट्री हमेशा से सॉफ़्ट टारगेट रही है.

अनुराग ने लिखा, "प्रधानमंत्री और सरकार ने कभी किसी फ़िल्म पर बैन की या पाकिस्तानी कलाकारों को वापस भेजने की मंशा ज़ाहिर नहीं. लेकिन जब मीडिया का एक ख़ास वर्ग और कुछ पार्टियां बॉलीवुड को निशाना बना रहे हैं ऐसे में सत्ताधारी दल के सदस्यों का चुप रहना परेशा करता है. हमने उन्हें चुना है तो उनकी ज़िम्मेदारी है हमारी सुरक्षा करने की."

अनुराग ने अपने एक ट्वीट में 'भारत माता की जय' लिखने पर कहा, "ये उन लोगों पर एक तंज था जो बात-बात पर देशभक्ति के सबूत मांगते हैं."

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)