ऑनलाइन धमकियों को दिया जवाब तरुणा ने

इमेज कॉपीरइट TARUNA ASWANI

अमरीका में नौकरी कर रही भारत की 24 साल की तरुणा असवानी को जब उनकी निजी तस्वीरें और वीडियो वायरल करने की धमकी मिली तो उन्होंने करारा जवाब दिया.

हुआ यूं कि पिछले शुक्रवार की सुबह नौ बजे एक अनजान शख्स का ईमेल मिला. ईमेल पढ़कर तरुणा स्तब्ध रह गईं.

यह ईमेल केविन जॉन नाम के व्यक्ति ने भेजा था.

जॉन ने दावा किया कि उसके पास असवानी की बेहद निजी तस्वीरें और वीडियो हैं जो उसने तरुणा के आईक्लाउड से हासिल किए हैं.

ये वो तस्वीरें और वीडियो थे जो तरुणा ने पांच साल पहले अपने ब्यॉयफ्रेंड को भेजे थे. इन्हें केवल वही देख सकता था.

जॉन ने तरुणा को धमकी दी, "यदि तुम चाहती हो कि मैं चुप रहूं और दुनिया (सोशल मीडिया, सहकर्मी, परिवार, दोस्त) को इसके बारे में पता नहीं चले तो तुम्हें मेरी बात माननी होगी."

इमेज कॉपीरइट Taruna Aswani Facebook

उसने तरुणा को अपना एक और अंतरंग वीडियो भेजने को कहा.

असवानी अभी अमरीका के मेरीलैंड में फिजिकल थेरेपिस्ट हैं. उन्होंने तुरंत एफबीआई के साइबर क्राइम विभाग की मदद से एक ऑनलाइन शिकायत की.

इससे पहले की तरुणा की शिकायत पर कोई पहलकदमी की जाती तरुणा को जॉन का दूसरा ईमेल मिला. इसमें भी वही धमकी थी.

पर इस बार ईमेल में कई फोन नंबर की लिस्ट भी भेजी गई थी. कहा गया था कि यदि तरुणा ने जॉन की बात नहीं मानी तो उनकी नंगी तस्वीरें और वीडियो इन नंबरों पर भेज दिए जाएंगें.

असवानी को लगा कि उन्हें खुद ही कुछ करना होगा.

तरुणा असवानी ने बीबीसी को बताया, "ये आदमी खतरनाक था. मेरे पास वक्त नहीं था. मैंने ब्यॉयफ्रेंड की मदद ली और इसके बारे में सबको बताने का फैसला किया."

उन्होंने जॉन की धमकियों के जवाब में अपने फेसबुक अकाउंट पर एक कड़ी पोस्ट लिखी.

इमेज कॉपीरइट Taruna Aswani Facebook

पोस्ट को 4000 बार शेयर किया गया जबकि 18,000 लोगों ने इसके बारे में बात की.

साफ था कि असवानी जॉन की गलत मांग के सामने झुकने वाली नहीं थी.

तरुणा ने उनको भेजे गए ईमेल के स्क्रीनशॉट और जॉन का ईमेल एड्रेस भी पब्लिक कर दिया.

पोस्ट में तरुणा ने लिखा, "मेरा वीडियो चाहे जितनी भी शर्मिदगी भरा हो (ये मैंने बहुत पहले अपने ब्यॉयफ्रेंड को भेजी थीं) मैं इस आदमी की बात कतई नहीं मानूंगीं."

इमेज कॉपीरइट TARUNA ASWANI

"उसकी नाजायज मांगों को मानने की बजाय मैं इसके बारे में दूसरी महिलाओं को बताना बेहतर समझती हूं. ताकि वे इस तरह की धमकियों से न डरें और जीवन में ऐसी बातों से शर्मिंदा न हों."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)