सोशल पर सवाल: मोदी को वोट 'क्यू' दिया

इमेज कॉपीरइट AP

8 नवंबर को नोटबंदी की घोषणा के बाद कई लोगों को लगा कि थोड़ी देर से सही, लेकिन हालात बेहतर हो जाएंगे. लोकिन दिसंबर के पहले दो दिन गुज़रने के बाद लग रहा है कि लोगों का धैर्य जवाब देने लगा है.

भारत में सोशल मीडिया पर #मोदी_को_वोट_queue_दिया और #Salary_मिली_पैसे_नहीं ट्रेंड कर रहा है. और लोग इस पर ट्वीट कर रहे हैं.

#मोदी_को_वोट_queue_दिया हैशटैग के साथ लोग कई तरह के ट्वीट कर रहे हैं.

योगेश ठाकुर ने लिखा है "मोदी को वोट क्यों किया के सवाल पर उत्तर होगा - उस समय दिमाग़ी हालत ठीक नहीं थी."

मोनिका मिगलानी ने लिखा "आज सभी आम लोग ठगा सा महसूस कर रहे है, स्वयं से पूछ रहे है."

500 और 1000 के नोट हुए रद्दी, आप क्या करें?

नोटबंदी: सात मुश्किलें जो अब तक हैं कायम

आरती ने नोटबंदी के कारण हुई मौतों से संबंधित एक ख़बर के रीट्वीट किया और लिखा "बॉर्डर पे जवान मर सकते हैं तो तुम कतार में नहीं मर सकते ??"

कार्तिकेय शर्मा ने लिखा, बैंक के आगे शनिवार को लोग सुबह 6:53 से ही लाइन में लगे हैं, जबकि बैंक 9:30 को खुलेगा.

इस पर अग्रेसिव इंडियन ने लिखा, "ये मोदी जी का मास्टर स्ट्रोक है. सभी भारतीयों को उन्होंने समय से पहले आना सिखा दिया."

चंद्रकेश यादव ने लिखा, "अब पछताए क्या होत जब चिड़िया चुग गई खेत."

नोटबंदी: बताया तो 50, पकड़े गए तो 85 गए

Image caption प्रमोद बलानिया का ट्वीट

संदीप वी पॉल ने लिखा, "एक बार राहुल गंधी ने कहा था कि मोदी सरकार फेयर एंड लवली की तरह है. उन्होंने इस बात को सच भी साबित कर दिया."

एश्वर्या वर्मा ने लिखा, "मोदी जी ने जेब खली की, घर मे जो सोना रखा है उसपर भी बुरी नज़र है. लगता है कल कहेंगे आटा केवल 5 किलो ही लो और दाल 1 किलो ही लो."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे