ब्रिटेन: उल्टी आए तो फौरन ट्वीट करें

उल्टी इमेज कॉपीरइट Science Photo Library

अगर आपको अचानक उल्टी आती हो या फिर लगातार दस्त की शिकायत हो तो फौरन फोन उठाएं और ट्विटर पर इसकी जानकारी दें.

भले ही इससे आपकी दिक्कत का कोई हल न निकले लेकिन एक या दो ट्वीट शोधकर्ताओं को जाड़े में उल्टी आने की प्रवृत्ति को समझने में मदद दे सकते है.

वैसे ट्विटर पर अपनी उल्टी के बारे में बताने का मामला ब्रिटेन से जुड़ा हुआ है, जहां फूड स्टैंडर्ड एजेंसी, नोरोवायरस यानी जाड़े में उल्टी आने की प्रवृत्ति को समझने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर रही है.

पढ़ें- ओआरएस वाले डॉक्टर साहब

पढ़ें- दुनिया एंटीबायोटिक युग के अंत की ओर

नोरोवायरस खाने-पीने की चीजों के ज़रिए या फिर व्यक्तिगत संपर्क से फैलता है. इसके लक्षण एक से दो दिन में नज़र आते हैं और संक्रमण का असर भी अगले दो दिनों तक मौजूद रहता है.

इमेज कॉपीरइट PA

इसकी शुरुआत 2013 में तब हुई जब फूड स्टैंडर्ड एजेंसी इस वायरस को ट्रैक करने के लिए नए रास्तों की तलाश में जुटी. पहले गूगल सर्च के आंकड़ों की मदद ली गई और फिर पाया गया कि आंकड़ों के लिहाज़ से सोशल मीडिया बेहतर विकल्प है. ट्विटर पर नोरोवायरस के संक्रमण के लक्षणों और उससे जुड़े शब्दों को खंगाला जा रहा है.

पढ़ें- डॉक्टर की दवा कब बेअसर हो जाती है?

पढ़ें- खांसी में कारगर नहीं एंटीबायोटिक दवाएं

इमेज कॉपीरइट Twitter

प्रोजेक्ट से जुड़ी डॉक्टर सियान थॉमस बताती हैं, "यह फौरन मिलने वाली जानकारी से जुड़ा है कि लोगों की ज़िंदगी में अभी क्या घट रहा है."

दूसरी तरफ लोग अस्पताल या नर्सिंग होम जाकर अपना इलाज कराते हैं. फूड स्टैंडर्ड एजेंसी इन आंकड़ों का सोशल मीडिया से मिले डेटा से मिलान करती है.

डॉक्टर सियान थॉमस का कहना है कि इन आंकड़ों के ज़रिए संक्रमण के बढ़ने वाले मामलों के बारे में अनुमान लगाया जा सकेगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे