सोशल मीडिया- 'करीना को तैमूर नाम पसंद कैसे आया'

इमेज कॉपीरइट AP

करीना कपूर और सैफ़ अली ख़ान मंगलवार को एक बेटे के माता-पिता बने. जैसे ही ख़ान परिवार ने बेटे का नाम तैमूर अली ख़ान पटौदी घोषित किया, तो सोशल मीडिया पर आलोचनाओं और समर्थन का दौर शुरू हो गया.

ट्विटर पर कुछ लोग बच्चे का नाम रखने को माता-पिता का हक़ बता रहे हैं तो कुछ लोगों ने तैमूर नाम रखने पर सवाल उठाए हैं.

@iamTribalKhan हैंडल से लिखा गया- "पिछले 27 साल से मेरा नाम तैमूर अली ख़ान है और मैंने किसी देश पर हमला नहीं किया, अपने पड़ोसी तक पर नहीं..."

@lindsaypereira ने लिखा, "हम बच्चों पर हमला क्यों कर रहे हैं? क्योंकि हमारे....नेताओं को महिलाओं, छात्रों, दलितों और अल्पसंख्यकों पर हमला करने में कोई आपत्ति नहीं है."

कपिल रौतेला ने ट्वीट किया, "तैमूर अली ख़ान नाम में कोई समस्या नहीं है, लेकिन करीना को ये नाम पसंद कैसे आया?"

@dildarsm1 हैंडल से लिखा गया है, "शुक्र है करीना और सैफ़ ने अपने बच्चे का नाम "कन्हैया" नहीं रखा वरना भक्तों की जान पर बन आती."

@uttamknights लिखते हैं, "अगर आप किसी का नाम तैमूर रखते हैं तो इसका मतलब ये नहीं कि वो उसी रास्ते पर चलेगा..."

इस बीच, सोशल मीडिया पर हुए तैमूर के नाम के विरोध में करीना कपूर के चाचा और तैमूर के नाना ऋषि कपूर ने भी लोगों को करारा जवाब दिया है.

इमेज कॉपीरइट Twitter

ऋषि कपूर ने ट्विटर पर लिखा, "आप सब लोग इस बात को लेकर क्‍यों चिंतित हैं कि माता-पिता अपने बच्‍चे का क्‍या नाम रखते हैं. आप सब अपने काम पर ध्‍यान दें क्‍योंकि इसका आपसे कोई लेना देना नहीं है. यह माता पिता की इच्‍छा है."

ऋषि ने लोगों को काम से काम रखने की नसीहत दी.

एक व्‍यक्ति ने ट्विटर पर लिखा, "सभी नामों में से तैमूर..... माता-पिता ऐसा नाम कैसे रख सकते हैं."

इस पर ऋषि कपूर ने जवाब दिया, "तुम अपने काम से काम रखों. तुम्‍हारे बेटे का नाम तो नहीं रखा ना. तुम होते कौन हो कमेंट करने वाले."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)