किंगफिशर नहीं, ट्रेंड कर रहा खादी कैलेंडर

इमेज कॉपीरइट KYIC

खबरों के मुताबिक खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) के 2017 के कैलेंडर और डायरी से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी गायब हो गए हैं और उनकी जगह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर ने ले ली है.

सोशल मीडिया पर भी ये मुद्दा चर्चा का विषय बना रहा और ट्विटर पर #KhadiCalendar ट्रेंड में रहा.

नितिन पाटिल ने ट्वीट किया, "हैरान न हों अगर अगले कुछ दिनों में हमें नोट पर भी मोदी की फोटो दिखे."

पढ़ें: मोदी के ट्वीट पर बोले केजरी 'मेरे पास भी माँ है'

पढ़ें: मनमोहन की स्कीम पर मोदी ने लगा दी मुहर

@Rakhshaan2008 हैंडल से ट्वीट किया गया, "किसी ने कभी कल्पना भी नहीं की होगी कि बापू की जगह कोई ले पाएगा, लेकिन नमो ने कर दिखाया. भारत किस तरफ जा रहा है?"

डॉक्टर पूजा त्रिपाठी ने ट्वीट किया, "किसी को मोदी को साफ़ तौर पर ये बताने की ज़रूरत है कि आप कभी भी बापू की जगह नहीं ले सकते."

मधुमिता ने ट्वीट किया, "क्या गांधी की नकल कर सिर्फ़ चरखे के पीछे बैठ जाने से कोई गांधी बन सकता है!"

सुंदर अंदिथेवर ने ट्वीट किया, "धीमे चलो मोदी जी...अभी हम नोटबंदी से ही उबर रहे हैं और अब खादी कैलेंडर. इतने झटके नहीं झेल सकते."

निखिल शर्मा ने ट्वीट किया, "हैरान हूँ कि अभी तक नोटों पर गांधीजी का ही फोटो है."

@paree7dec हैंडल से ट्वीट किया गया, "देखिए, किंगफिशर की जगह खादी कैलेंडर ट्रेंड कर रहा है."

गोपालन ने ट्वीट किया, "खादी को महात्मा गांधी की विरासत के रूप में क्यों देखा जाए. जीवित व्यक्तियों के साथ इसे क्यों नहीं जोड़ा जाना चाहिए?"

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे