'एटीएम में नोट भी डलवा देते तो मेहरबानी हो जाती'

इमेज कॉपीरइट Reuters

भारतीय रिज़र्व बैंक ने सोमवार को एटीएम से कैश निकालने की सीमा बढ़ा दी है. अब 4,500 की बजाए एक कार्ड से एक दिन में 10,000 रुपए तक निकाले जा सकेंगे. हालांकि बैंक खाते से हफ़्ते में अब भी सिर्फ़ 24 हजार रुपए ही निकाले जा सकेंगे.

दस हज़ार रुपए की सीमा बचत खाताधारियों के लिए है. लेकिन चालू खाताधारक अब एक हफ़्ते में 50,000 की बजाय एक लाख रुपए तक निकाल सकता है.

पढ़ें: एटीएम से अब निकाल सकेंगे 10,000 रुपए

आरबीआई के इस फ़ैसले की चर्चा सोशल मीडिया पर भी हुई. पढ़िए किसने क्या कहा?

@nicky4u_aol ने ट्वीट किया, ''ज्यादा ख़ुश होने की ज़रूरत नहीं है. ये उनके लिए है जो महीने में उस हिसाब से कमाते हैं.''

अमित पांडे ने लिखा, ''एटीएम से अब दस हज़ार रुपए निकाले जा सकते हैं... हथौड़ा, छेनी और स्क्रू ड्राइवर लेकर जाना होगा.''

नोटबंदी के बारे में सबकुछ यहां जानें

प्रवीण सैनी ने फ़ेसबुक पर लिखा, ''नोट निकालने की सीमा तो बढ़ा दी. एटीएम में नोट भी डलवा देते तो मेहरबानी हो जाती माई बाप.''

मोहम्मद ज़ाकिर ने लिखा, ''ज़रा सरकार ये भी बता देती तो अच्छा होता कि दस हज़ार रुपए निकालने वाली एटीएम मशीन कहां लगी है?''

नितिश कुशवाहा ने लिखा, "पहले पैसे निकालते वक़्त लिमिट आड़े आती थी और अब औकात आड़े आएगी."

व्यास ने लिखा, ''हज़ारों ख़्वाहिशें ऐसी... पर एटीएम पर रक़म तो निकले.''

रिज़र्व बैंक गवर्नर से पूछे जा रहे हैं कठिन सवाल

तत्वंशी बारिक ने लिखा, "एटीएम से कैश निकालने की सीमा बढ़ा दी गई है. ये अच्छा फ़ैसला है."

बाबूराफेल नाम के एक ट्विटर हैंडल ने लिखा, "आरबीआई का धन्यवाद जो उन्होंने पैसा निकालने की सीमा के बढ़ाया. उम्मीद है कि इससे नोटबंदी के कारण हो रही परेशानी थोड़ी कम होगी. "

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे