पांच ट्वीट और एक करोड़ 44 लाख फॉलोअर्स

इमेज कॉपीरइट Reuters

20 जनवरी 2017 को राष्ट्रपति पद की शपथ ले कर डोनल्ड जॉन ट्रंप अमरीका के 45वें राष्ट्रपति बन गए हैं.

इसके साथ ही उन्होंने पोटस यानी अमरीकी राष्ट्रपति के दफ्तर नाम से नया ट्विटर अकाउंट खोला है, जिस पर 24 घंटों से भी कम समय पर उन्हें 1.44 करोड़ लोगों ने फॉलो किया है. अब तक इस ट्विटर हैंडल से मात्र पांच ही ट्वीट किए गए हैं.

भारतीय सोशल मीडिया पर प्रेसिडेंट डोनल्ड ट्रंप, ट्रंप, इनॉगरेशन जैसे हैशटैग ट्रेंड कर रहे हैं. सोशल मीडिया पर उन्हें बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है और ऐसे लोगों की भी कमी नहीं जो उनके विरोध में ट्वीट कर रहे हैं.

नज़र डालते हैं कुछ चुनिंदा ट्वीट पर.

आम आदमी पार्टी के कुमार विश्वास ने लिखा, "उनके पास ट्रंप है हमारे पास ट्रंपेट (एक तरह का बाजा)."

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
जब डोनल्ड ट्रंप थिरक उठे

दिवाकर प्रसाद लिखते हैं, "ट्रंप इस्लामिक आतंकवाद के ख़िलाफ़ हैं, भारत के लिए ये अच्छी ख़बर है."

2017 में इससे बुरा क्या हो सकता है? - ये ट्वीट किया है कुकी अली नाम के एक ट्विटर हैंडल ने.

अनुराग मुस्कान ने लिखा, "मोदी के आने से भारत अमेरिका जैसा बने ना बने लेकिन ट्रंप के आने से अमेरिका ज़रूर भारत जैसा बन जाएगा."

रॉन प्लॉट ने लिखा, "राष्ट्रपति बनने के लिए ट्रंप को शुभकामनाएं. ईश्वर अमरीका की मदद करे."

अमैंडा किर्क ने लिखा, "ये दिन कितना बुरा है ये बताना मुश्किल है. अमरीकी इतिहास में इसे एक बुरे दिन, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शर्मनाक़ दिन के रूप में लिखा जाएगा. "

डाल्टन डेवो ने लिखा, "मैं ट्रंप का समर्थन नहीं करता लेकिन सच कहूं तो इन विरोध प्रदर्शनों से हमारा भला नहीं होगा. इसे अब नहीं बदला जा सकता, वो हमारे राष्ट्रपति बन चुके हैं."

केनी क्राउट ने लिखा, "ट्रंप अब हमारे राष्ट्रपति हैं. उन्हें ख़ुद को साबित करने का एक मौक़ा तो दो. बहुत हो गया कहना कि अंगूर खट्टे हैं. चुनाव ख़त्म हुए महीने बीत गए."

जेसन बिलिंग्स ने लिखा, "कल की तुलना में देखें तो अमरीका आज ज़्यादा महान है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे