सोशल: 'मोदी जी को मुस्लिम टोपी पहननी चाहिए थी'

इमेज कॉपीरइट AFP

गणतंत्र दिवस के दिन भारत में सोशल मीडिया पर #Republicday ट्रेंड कर रहा है.

एक तरफ लोग एक-दूसरे को 68वें गणतंत्र दिवस की मुबारकबाद दे रहे हैं तो कुछ लोगों ने पीएम मोदी की गुलाबी पगड़ी के बारे में लिखा है.

राजेंद्र मौर्य ने लिखा, "नोटबंदी के बाद आयोजित पहला गणतंत्र दिवस. मोदी ने गुलाबी नोट का स्वागत गुलाबी पगड़ी के साथ किया है."

कुछ ऐसे ट्वीट भी हैं जो आपको इस दिन के बारे में और सोचने पर मजबूर कर देते हैं.

काफ़िर नाम के एक ट्विटर हैंडल ने लिखा, "आज के दिन मोदी जी को एक मुस्लिम टोपी पहननी चाहिए थी. वो आज की परेड में राजस्थानी पगड़ी पहने हुए हैं और यह धर्मनिरपेक्ष नहीं लगता."

योगेश शर्मा ने ग़रीबी की मार झेलते बच्चों की बात करते हुए लिखा, "सिग्नल पर कुछ बच्चों को तिरंगा बेचते देखा ज़ेहन में आया देशद्रोह का आरोप इन पर लगा दूं. ये क्या जाने गणतंत्र की स्वाधीनता."

ऐन्ना बीयर ने लिखा, "एक देश हो, एक सपना हो, एक पहचान हो."

शान-ए-हिंद ने लिखा, "सरकार के विरोध में बोलना देशद्रोह नहीं होता. ये देशभक्ति होती है क्योंकि हम नहीं चाहते कि हमारा देश बिखर जाए."

संकेत भालेराव ने लिखा, "भारत के सबसे बड़े दिन की ख़ुशी मनाने के लिए दुबई से हमारे मेहमान आए."

शुजा कमाली नाम के एक ट्विटर हैंडल ने लिखा, "आज के दिन भारत को कश्मीर पर की जा रही ज़्यादतियों के बारे में याद दिलाना चाहते हैं- अंधे बच्चे, रोती माएं और बिखरे परिवार."

जम्मी कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमल अब्दुल्ला के ट्वीट के उत्तर में कश्मीर नाम के एक ट्विट हैंडल ने तंज कसा, "क़ैद और कर्फ्यू में रह रहे कश्मीर के लोगों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे