चुनावी मौसम में कृत्रिम उंगलियों का सच

  • 21 फरवरी 2017

चुनावी मौसम में कृत्रिम उंगलियां चर्चा में हैं. वजह है पूर्व चुनाव आयुक्त एसवाई कुरैशी का इस तस्वीर को ट्वीट करना.

इमेज कॉपीरइट Twitter

एसवाई कुरैशी ने मंगलवार को इस तस्वीर को ट्वीट करते हुए लिखा, ''किसी ने ये तस्वीर मुझे भेजी.'' इस तस्वीर के कोलाज में एक स्याही लगी उंगली वाली तस्वीर भी है.

इस वजह से इन नकली उंगलियों के चुनाव में इस्तेमाल किए जाने की बात कही गई. कई सोशल मीडिया यूजर्स ने नकहा, "चुनावों में ज़्यादा वोटिंग का फ़ायदा लेने के लिए इन नकली उंगलियों का इस्तेमाल हो रहा है."

इमेज कॉपीरइट Twitter

उत्तर प्रदेश चुनाव में 997 उम्मीदवार करोड़पति

क्या है कटी हुई उंगलियों की तस्वीर का सच?

दरअसल ये तस्वीरें जापान की हैं. द गार्डियन की ख़बर के मुताबिक, जापान की एक डॉक्टर युकाको फुकुशिमा इन उंगलियों को बनाती हैं. ताकि जिन लोगों की उंगलियां किसी वजह से कट जाती हैं, उन्हें नई उंगलियां लगाई जा सकें.

इमेज कॉपीरइट Twitter

हालांकि यह भी कहा जाता है कि ऐसी उंगलियों का इस्तेमाल गैंगस्टर ज़्यादा करते हैं ताकि पकड़े जाने से बचा जा सके. जापान में क्रिमिनल्स की गैंग यज़ुका के अपराधी ऐसे नकली उंगलियों का इस्तेमाल अक्सर करते हैं.

सोशल मीडिया पर कटी हुई उंगलियां की चर्चा

@visnit25 लिखते हैं, ''कुरैशी जी, अफ़वाह मत फैलाइए. ये तस्वीर जापान की एक लैब की है.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

ज़ैकब ने ट्वीट किया, ''सर, वॉट्स ऐप पर भेजे हुए मैसेज का यकीन न कीजिए.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

कार्टून: पारिवारिक झगड़ा नहीं, चुनाव है

हालांकि ऐसे भी लोग हैं, जो प्लास्टिक की उंगलियों को चुनाव से जोड़कर देख रहे हैं.

अभिषेक मिश्रा ने लिखा, ''जब चीनी मोबाइल भारत में आ सकते हैं तो प्लास्टिक की उंगलियां कई बार वोट डालने के लिए इस्तेमाल क्यों नहीं हो सकती.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे