काश मैं भी विरोध प्रदर्शन में होती: गुरमेहर कौर

इमेज कॉपीरइट Gurmehar Kaur Facebook

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के ख़िलाफ़ छेड़े गए अभियान से ख़ुद को अलग करने वाली गुरमेहर कौर ने एक नया ट्वीट किया है.

इसमें उन्होंने लिखा है, ''2000 लोग एकजुट. मेरे सारे दोस्त. मेरे प्यारे शिक्षक. काश मैं भी वहां होती.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

दिल्ली के रामजस कॉलेज में दक्षिणपंथी और वामपंथी विचारधारा वाले छात्र गुटों के बीच हुई झड़प के बाद गुरमेहर अचानक चर्चा में आ गई थीं.

इससे पहले गुरमेहर ने मंगलवार सुबह ट्वीट किया,"मैं इस कैम्पेन से खुद को अलग कर रही हूं. हर किसी को शुभकामनाएं. मैं गुज़ारिश करती हूं कि मुझे अकेला छोड़ दो. मुझे जो कहना था, कह चुकी हूं."

उन्होंने आगे कहा, "मैं काफी कुछ झेल चुकी हूं. और 20 साल की उमर में इससे ज्यादा नहीं झेल सकती. ये अभियान छात्रों को लेकर था, मेरे बारे में नहीं. जो लोग मेरी बहादुरी और साहस पर सवाल उठा रहे हैं...(उनसे कहना चाहती हूँ) मैंने ज़रूरत से ज़्यादा ही साबित कर दिया है."

'मेरे दोस्तों को रेप की धमकी दी गई'

गुरमेहर के इस पोस्टर के पीछे का सच क्या है?

इमेज कॉपीरइट Gurmehar Kaur Tweet

इसके साथ ही गुरमेहर ने छात्र संगठन एबीवीपी के खिलाफ 28 फरवरी को प्रस्तावित विरोध मार्च में लोगों से बड़ी तादाद में हिस्सा लेने की भी अपील की.

इससे पहले उन्होंने ने ये भी दावा किया कि उनकी सहेलियों को बलात्कार की धमकियां दी गईं हैं. बीबीसी से बातचीत में उन्होंने कहा, "मेरे कई दोस्तों को मारा-पीटा गया था. अपने दोस्तों के समर्थन में मैंने ये विरोध शुरू किया है."

दरअसल ये पूरा मामला दिल्ली के लेडी श्रीराम कॉलेज की छात्रा और कारगिल की लड़ाई में मारे गए एक सैन्य अधिकारी की बेटी गुरमेहर कौर की फ़ेसबुक पर अपनी प्रोफ़ाइल पिक्चर बदलने से शुरू हुआ.

सहवाग क्यों बोले मैंने नहीं बनाए दो तिहरे शतक

इमेज कॉपीरइट YOUTUBE GRAB

22 फ़रवरी, 2017 को इस पोस्ट में गुरमेहर एक पोस्टर के साथ दिख रही हैं. इस पर लिखा है, ''मैं दिल्ली यूनिवर्सिटी की छात्रा हूं. मैं एबीवीपी से नहीं डरती. मैं अकेली नहीं हूं. भारत का हर छात्र मेरे साथ है. #StudentsAgainstABVP''

इसके बाद सोशल मीडिया पर कई छात्र-छात्राओं ने #StudentsAgainstABVP के हैशटैग के साथ ऐसा ही संदेश लिखकर अपनी तस्वीर डालनी शुरू की.

लेकिन बवाल इस पर नहीं हुआ. हंगामा मचा गुरमेहर की उस तस्वीर पर जिसमें वो एक प्लेकार्ड लिए खड़ी हैं. इस पर अंग्रेज़ी में लिखा है, ''पाकिस्तान ने मेरे पिता को नहीं मारा, बल्कि जंग ने मारा है.''

इस बीच गुरमेहर कौर की शिकायत पर दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच साइबर यूनिट ने केस दर्ज कर लिया है.

दिल्ली पुलिस के संयुक्त पुलिस आयुक्त दीपेंद्र पाठक ने बताया कि मामला दर्ज कर जांच की जा रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे