सोशल: 'सचिन बने लिंक्डइन ज्वॉइन करने वाले पहले क्रिकेटर'

  • 2 मार्च 2017
सचिन इमेज कॉपीरइट Getty Images

पूर्व भारतीय क्रिकेटर सचिन रमेश तेंदुलकर ने गुरुवार को प्रोफ़ेशनल व सोशल नेटवर्किंग साइट 'लिंक्डइन' पर अपना खाता खोला.

इसकी जानकारी सचिन ने ट्वीट के ज़रिए दी. सोशल मीडिया का महत्व बताते हुए सचिन ने यह जानकारी साझा की.

इमेज कॉपीरइट Twitter

इस मौके पर सचिन ने क्रिकेट के बाद अपनी दूसरी इनिंग के बारे में एक ब्लॉग भी लिखा.

सचिन ने लिखा, "ये अक्टूबर, 2013 की बात है. मैं दिल्ली में आयोजित चैंपियंस लीग खेल रहा था. मेरे दिन की शुरुआत जिम में ट्रेनिंग के साथ होती है. और ऐसा बीते 24 साल से मैं कर रहा हूं. लेकिन अक्टूबर की वो सुबह कुछ अलग थी, जिसने काफी कुछ बदलकर रख दिया."

गुरुवार को उनके इस ब्लॉग को #sachinonlinkedin के साथ सोशल मीडिया पर ख़ूब शेयर किया गया.

इमेज कॉपीरइट linkedin/Screengrab

सचिन के ब्लॉग की मुख्य बातें:

  • सुनील गावस्कर उनके हीरो हैं.
  • सचिन ने बताया कि बिली जीन किंग ने विंबलडन में उनसे ऐसा क्या कहा, जिसका असर उनके रिटायरमेंट पर पड़ा.
  • उन्होंने बताया कि किस तरह वे अपनी दूसरी पारी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान से जुड़े.
  • सचिन के लिंक्डइन प्रोफ़ाइल में उनका परिचय दिया गया है कि सचिन रमेश तेंदुलकर क्रिकेट के लिए ठीक वैसे ही हैं, जैसे फ़ुटबॉल के लिए पेले, बास्केटबॉल के लिए जॉर्डन और बॉक्सिंग के लिए मोहम्मद अली हैं.
  • सचिन ने अपने प्रोफ़ाइल में ख़ुद को भारतीय, क्रिकेटर, मेंटर (गुरु) और चेंज मेकर बताया है.

लिंक्डइन एक सोशल व प्रोफ़ेशनल नेटवर्किंग साइट है, जिसे ख़ासतौर पर बिज़नेस कम्युनिटी के लिए तैयार किया गया है. लिंक्डइन ने सचिन की प्रोफ़ाइल को अपनी 'प्रेरकों' की श्रेणी में जगह दी है.

सोशल मीडिया में लिंक्डइन को नौकरी खोजने का सबसे अहम नेटवर्क माना जाता है. ऐसे में सचिन की लिंक्डइन पर हुई एंट्री पर तमाम लोग चुटकी भी ले रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Twitter

@Kus_se_Kus हैंडल ने लिखा, "नोटबंदी का असर देखिए. अब भगवान को भी नौकरी की ज़रूरत है."

इमेज कॉपीरइट Twitter

चैतन्य पोलूकोंडा ने ट्विटर पर लिखा, "सचिन लिंक्डइन ज्वॉइन करने वाले पहले क्रिकेटर बन गए हैं. अब आप उनकी खेल क्षमता की सिफारिश भी कर सकते हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे