एग्ज़िट पोल: शिशु जन्मेगा, पर लड़की या लड़का, नहीं पता

  • 9 मार्च 2017
इमेज कॉपीरइट Reuters

मतदान पूरा हुआ और नतीजे कुछ वक़्त दूर हैं. और ये मौसम है एग्ज़िट पोल का. गुरुवार शाम ज़्यादातर टीवी चैनलों ने एग्ज़िट पोल दिखाने शुरू किए.

जानकार उन आंकड़ों की तह तक पहुंचने में लगे थे और राजनीतिक दलों से जुड़े लोग उनमें अपनी जीत या फिर खामियां ढूंढ रहे थे.

BBC SPECIAL 'हाँ अगर ज़रुरत पड़ी तो ...': अखिलेश

टीपू की साइकिल पंचर करने में लगीं साधना

उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर के चुनावी नतीजे 11 मार्च आने हैं, लेकिन तमाम चुनाव सर्वे एजेंसियों और समाचार चैनलों के एक्जिट पोल आने शुरू हो चुके हैं.

देखिए किसने किस पार्टी को कहां की कुर्सी पर बैठाया है.

इमेज कॉपीरइट BBC/Kirtish

आज तक (इंडिया टुडे) के एग्ज़िट पोल में यूपी में भाजपा को 251-279, सपा-कांग्रेस को 88-112 जबकि बसपा को 28-42 सीटें जीतने का अनुमान लगाया गया है.

न्यूज़ 24 ने अपने एग्ज़िट पोल में यूपी में भाजपा को 285 (+/-18), सपा-कांग्रेस को 88 (+/-15) और बसपा को 27 (+/-12) सीटें दी हैं.

इंडिया न्यूज़ के एग्ज़िट पोल में भाजपा को 185, सपा-कांग्रेस को 120 और बसपा को 90 सीटों पर जीत की भविष्यवाणी की गई है.

इमेज कॉपीरइट Twitter

और सोशल मीडिया पर लोग मज़े ले रहे हैं. चैनलों पर पोल शुरू होते ही #ExitPolls शीर्ष ट्रेंड बन गया. सभी लोग अपनी-अपनी राय पेश कर रहे हैं.

रोफल गांधी हैंडल से लिखा गया, ''सभी एग्ज़िट पोल का टोटल देखा जाए तो लग रहा है कि मोदीजी और राहुलजी ने अखिलेश को नाप दिया है.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

राजनीतिक दलों से जुड़े या उनमें आस्था रखने वाले लोग अपनी-अपनी तरह से इन्हें पेश करने लगे और दूसरे लोगों ने ख़ूब चुहलबाज़ी की.

ज़ाहिर है, किसी पार्टी से जुड़े लोग इन पोल के नतीजों को अपनी तरह देख रहे हैं. वीरेन ने लिखा है, ''अगर कांग्रेस जीतेगी तो राष्ट्रविरोधी दल पंजाब से बाहर हो जाएगा. अगर आप जीतेगी तो हम कांग्रेस मुक्त भारत के और क़रीब पहुंच जाएंगे.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

सिद्धार्थ ने वो लिखा है, जो सच के निकट दिखता है. उन्होंने लिखा, ''एग्ज़िट पोल कुछ इस तरह होते हैं कि बच्चा होने वाला है, लेकिन ये नहीं कह सकते कि लड़का होगा या लड़की.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

कुछ लोगों का कहना है कि एग्ज़िट पोल बेकार हैं. संजय ने लिखा है, ''ये पोल कुछ लोगों को रोज़गार और उत्साह ज़रूर देते हैं. लेकिन ये बेकार की कवायद है.''

राजेश पाडिया इस मौक़े पर अर्णब गोस्वामी को मिस कर रहे थे.

इमेज कॉपीरइट Twitter

वो लोग जो पहले कुछ इसी तरह का काम करते थे और बाद में राजनीति में उतर आए, वो 11 मार्च तक इंतज़ार करने की सलाह दे रहे हैं.

योगेंद्र यादव ने ट्वीट किया, ''अब तक एग्ज़िट पोल ने कोई मदद नहीं की है. उत्साहित ना होकर 11 तारीख़ का इंतज़ार किया जाना चाहिए. इस बात की ख़ुशी और राहत, दोनों है कि मुझे कोई भविष्यवाणी नहीं करनी.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे