सोशल- 'अखिलेश बबुआ ने की अरदास, बुआ आ जाओ मेरे साथ...'

  • 10 मार्च 2017
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
कोई नहीं चाहेगा यूपी में राष्ट्रपति शासन लागू हो: अखिलेश

उत्तर प्रदेश की राजनीति गुरुवार शाम से दो वजह से चर्चा में है. पहला एग्जिट पोल और दूसरा अखिलेश यादव को बीबीसी हिंदी को दिया एक्सक्लूसिव फेसबुक लाइव इंटरव्यू

यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मायावती से हाथ मिलने के सवाल पर कहा, ''हां अगर सरकार के लिए ज़रूरत पड़ेगी तो राष्ट्रपति शासन कोई नहीं चाहेगा. हम नहीं चाहते कि यूपी को बीजेपी रिमोट कंट्रोल से चलाए."

बीबीसी हिंदी से अखिलेश यादव का ख़ास इंटरव्यू

अखिलेश के साथ बीबीसी हिंदी के फेसबुक लाइव को यहां देखें

अखिलेश यादव के इस बयान को मायावती से हाथ मिलाने की संभावना को खुला रखने के संकेत के तौर पर देखा जा रहा है.

बीबीसी हिंदी को दिए अखिलेश यादव के इस इंटरव्यू की चर्चा सोशल मीडिया पर भी रही.

पढ़िए अखिलेश के बयान पर सोशल मीडिया यूजर्स की राय

इमेज कॉपीरइट Twitter

हेरांब वर्मा ने ट्वीट किया, ''अखिलेश यादव 300 सीट जीतने जा रहे थे. फिर भी बसपा के समर्थन की ज़रूरत पड़ रही है.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

राहुल राज ट्विटर पर लिखते हैं, ''चुनाव से पहले अखिलेश यादव हाथ के साथ थे. चुनाव के बाद अखिलेश यादव हाथी के साथ हैं.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

प्रवीण पाल ने ट्वीट किया, ''अखिलेश यादव को बुआ जी याद आ रही हैं.'' @adityakrdam ने लिखा, ''राहुल अखिलेश से: हम तो डूबे ही थे, तुमको भी ले डूबे.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

सतीश सिंह ने ट्विटर पर लिखा, ''अखिलेश यादव जी, आपको बुआ का सहारा नहीं लेना होगा. यूपी में न बुआ चली. न बबुआ चली. सिर्फ कमल का फुलवा चली. वो भी पूर्ण बहुमत से.''

इमेज कॉपीरइट AFP, Facebook/Akhilesh

संतोष यादव ने फेसबुक पर लिखा, ''अखिलेश का बड़ा बयान, राष्ट्रपति शासन से बेहतर है 'बुआ' से गठबंधन!!''

इमेज कॉपीरइट Twitter

प्रिया पंत ने फेसबुक पर लिखा, ''एक चैनल बार-बार अखिलेश और मायावती के साथ आने की संभावना से दुखी लग रहा है. अरे बीजेपी और पीडीपी का मेल क्या था चिंटू''

इमेज कॉपीरइट facebook

प्रिंस प्रताप सिंह ने लिखा, ''अखिलेश: अगर चुनाव हार गए तो क्या होगा. राहुल: हमको तो आदत है, तू अपना देख.''

@akhileshamoli ने ट्वीट किया, ''अखिलेश को आज बुआ याद आई हैं, 11 को नानी याद आएंगी.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)