मैक्सवेल ने उड़ाया कोहली की चोट का मज़ाक

इमेज कॉपीरइट Twitter

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच जारी टेस्ट सिरीज़ में मैदान पर क्रिकेट और बल्ले की ज़ोर आजमाइश तो हो ही रही है, खिलाड़ियों के बीच तनातनी का दौर भी जारी है.

बैंग्लुरू टेस्ट में भारतीय कप्तान विराट कोहली ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीवन स्मिथ के डीआरएस पर ड्रेसिंग रूम से सिग्नल पाने की कोशिश की तीखी आलोचना की थी.

चार मैचों की सिरीज़ 1-1 की बराबरी पर है और शनिवार को रांची में भारत ने ऑस्ट्रेलिया के पहली पारी में 451 रनों के जवाब में 6 विकेट पर 360 रन बना लिए हैं. चेतेश्वर पुजारा 130 रन बनाकर नाबाद हैं.

कोहली ने इसे चिटिंग करार देते हुए खेल भावना के विपरीत बताया था.

अब रांची में ग्लेन मैक्सवेल भारतीय कप्तान विराट कोहली के आउट होने पर उनकी चोट का मज़ाक उड़ाते देखे गए.

इमेज कॉपीरइट Reuters

टॉस जीतने के बाद ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाज़ी चुनी थी और पहले ही दिन फील्डिंग करते हुए कोहली के कंधे में चोट लग गई थी. वो दूसरे दिन मैदान पर नहीं उतर सके थे.

खैर, अंपायरों ने नियमों में कुछ छूट देते हुए कोहली को किसी भी क्रम पर बल्लेबाज़ी करने की छूट दी. मुरली विजय के आउट होने के बाद चौथे नंबर पर बल्लेबाज़ी करने के लिए कोहली मैदान पर उतरे.

81वें ओवर में चेतेश्वर पुजारा ने डीप मिडविकेट की तरफ एक करारा शॉट खेला, गेंद सीमा रेखा के बाहर पहुँचने ही वाली थी कि ग्लैन मैक्सवेल ने बेहतरीन गोता लगाते हुए गेंद को रोक दिया.

कोहली को पछाड़ा इस अफ़ग़ान क्रिकेटर ने

मैक्सवेल ने ठीक उसी अंदाज़ में अपनी हाथ को कंधे पर रखा जिस तरह से चोट लगने के बाद कोहली को कंधे पर हाथ रखते हुए देखा गया था.

सोशल मीडिया पर भी इस मुद्दे पर लोग बातें कर रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

फॉक्स स्पोर्ट्स क्रिकेट ने कोहली के चोटिल होने और मैक्सवेल के कंधे पर हाथ लगाने की तस्वीरें एक साथ पोस्ट की हैं.

@raita_wala हैंडल से लिखा गया है, "तो भारतीय प्रशंसकों की थ्योरी के मुताबिक कोहली आक्रामक थे और मैक्सवेल असभ्य."

पाक आर्मी में शामिल होना चाहते हैं सैमुअल्स

शुभ अग्रवाल ने ट्वीट किया, "ये मज़ाकिया हो सकता है, लेकिन मैक्सवेल और स्मिथ का कोहली की चोट का मज़ाक उड़ाना बचकाना पन है."

एक और यूजर ने लिखा, "चोट का मज़ाक कोई ऑस्ट्रेलियाई ही उड़ा सकता है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे