सोशल- रोमियो की तुलना कृष्ण से, प्रशांत ने दी सफ़ाई

  • 2 अप्रैल 2017
योगी आदित्ययनाथ इमेज कॉपीरइट Twitter, AFP

योगी आदित्यनाथ ने यूपी में मुख्यमंत्री बनते ही बीजेपी का 'एंटी रोमियो स्क्वॉड' बनाने का चुनावी वादा पूरा किया.

विलियम शेक्सपियर के क्लासिक उपन्यास 'रोमियो एंड जूलिएट' का मुख्य किरदार यूपी पहुंचकर बदनाम हो गया.

यूपी पुलिस टीम बनाकर स्कूल, कॉलेजों और सार्वजनिक स्थलों के बाहर 'मनचलों' पर शिकंजा कस रही है. इस स्क्वॉड का नाम रोमियो रखने पर रविवार को नई बहस शुरू हुई.

शनिवार को इस मसले पर बहस तब शुरू हो गई जब स्वराज अभियान के मुख्य प्रवक्ता ने इस मामले में भगवान कृष्ण का ज़िक्र किया और बाद में भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा उन पर ख़ूब बरसे.

वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने भी इस बारे में एक री-ट्वीट किया था लेकिन जब कई लोगों ने इस बारे में कार्रवाई की मांग की तो उन्होंने रविवार को सफ़ाई दी.

कैसे शुरू हुई बहस?

योगेंद्र यादव की नई पार्टी 'स्वराज इंडिया' के प्रवक्ता अनुपम ने शनिवार को ट्वीट किया था- ''एंटी रोमियो स्क्वॉड, भारत की शेक्सपियर को श्रद्धांजलि है. हैरानी नहीं होगी, अगर इंग्लैंड बदला लेने के लिए छेड़खानी के खिलाफ इंग्लैंड भी एंटी कृष्ण स्क्वॉड बना दे.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

अनुपम के ट्वीट को री-ट्वीट करते हुए वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने लिखा था- ''रोमियो ने सिर्फ एक लड़की को प्यार किया. लेकिन कृष्ण तो छेड़छाड़ करने के लिए मशहूर थे. क्या आदित्यनाथ में इतनी हिम्मत है कि वो अपने निगरानी रखने वालों को एंटी कृष्ण स्क्वॉड कहें.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

रविवार को प्रशांत ने ट्वीट किया- 'रोमियो ब्रिगेड पर किए गए मेरे ट्वीट को तोड़-मरोड़ कर पेश किया जा रहा है. मैं ये कहना चाहता हूं कि रोमियो ब्रिगेड के तर्क से तो भगवान कृष्ण भी छेड़खानी करने वाले कहलाएंगे.''

अगले ट्वीट में प्रशांत लिखते हैं, ''हम युवा कृष्ण की छेड़खानी के किस्से सुनते हुए बड़े है. रोमियो स्क्वॉड का तर्क इसे अपराध बताएगा. मैं किसी की भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचाना चाहता था.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

रोमियो और कृष्ण की तुलना किए जाने पर बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने ट्वीट किया, ''कृष्ण को समझने में कई जन्म लेने पड़ेंगे. कितनी आसानी से कृष्ण को राजनीति में घसीट लाए. दुख की बात है.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

क्या बोले सोशल मीडिया यूजर्स?

रोहित ने ट्वीट किया, ''क्या ये बयान हिंदुओं की धार्मिक भावना को आहत करने वाला नहीं है. जब कमलेश तिवारी पर कार्रवाई, फिर इन जैसे आज़ाद क्यों?''

इमेज कॉपीरइट Twitter

@priyankaa2005 ने लिखा, '' प्रशांत भूषण, रोमियो को गढ़ने वाला शेक्सपियर था और दुनिया को बनाने वाले कृष्ण. तुम शेक्सपियर की मूर्ति पूजा करते हो?

इमेज कॉपीरइट Twitter

क्या मनचला था रोमियो?

एंटी रोमियो दल: यूपी में आख़िर चल क्या रहा है?

ऐसे काम कर रहा है एंटी रोमियो दस्ता

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे