भगवान के क़ानून के अनुसार सारे बूचड़खाने अवैध: बाबा रामदेव

  • 3 अप्रैल 2017
इमेज कॉपीरइट AFP

उत्तर प्रदेश में 'अवैध' बूचड़खानों के ख़िलाफ़ जारी कार्रवाई का मुद्दा ठंडा होने का नाम नहीं ले रहा.

योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद से उत्तर प्रदेश पुलिस ने बड़ी तादाद में बूचड़खाने और गोश्त की दुकानें बंद की हैं.

योगी ने हाल में कहा था, "नेशनल ग्रीन ट्रीब्यूनल ने पिछले दो वर्षों में कई बार अवैध बूचड़खानों को हटाने के लिए कहा है. जो मानकों को पूरा कर रहे हैं सरकार उनको नहीं छेड़ेगी."

उन्होंने कहा, "जो बूचड़खाने एनजीटी के आदेशों का उल्लंघन कर रहे हैं और अवैध रूप से गंदगी फैला रहे हैं उन्हें एक प्रक्रिया के तहत हटाया जाए और किसी को स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करने की छूट न मिलने पाए."

अब इस बहस में योग गुरु बाबा रामदेव भी कूद पड़े हैं.

इमेज कॉपीरइट Twitter

उन्होंने टि्वटर पर एक पोस्ट की जिसमें लिखा है, ''कोई भी बूचड़खाना भगवान के क़ानून के अनुसार वैध नहीं है.''

इसके साथ ही उन्होंने लिखा है, ''पशु को मारना ही अवैध है.''

हालांकि उत्तर प्रदेश के मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा था कि सूबे की सरकार अवैध बूचड़खानों के ख़िलाफ़ क़दम उठा रही है, लेकिन वैध लाइसेंस वाली मीट इकाइयों को कोई परेशानी नहीं होगी.

इमेज कॉपीरइट Twitter
इमेज कॉपीरइट Twitter

बाबा रामदेव के ट्वीट पर सोशल मीडिया में प्रतिक्रिया आनी शुरू हो गई है.

कुछ लोग उनका समर्थन कर रहे हैं वहीं कुछ इस बयान पर सवाल उठा रहे हैं.

गगन ने सवाल किया है, ''क्या आप शाकाहारी दवाइयां बनाते हैं.''

@DesiOptimystic हैंडल से लिखा गया है, ''बाबा जी, संसार में भगवान का क़ानून नहीं चलता.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे