सोशल- कर्ज़ माफ़ी पर किसी ने कहा 'सच्चे हितैषी,' किसी ने कहा 'धोखा'

योगी इमेज कॉपीरइट Yogi/Twitter

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की सरकार ने पहली कैबिनेट बैठक के बाद किसानों की कर्ज़माफ़ी का चुनावी वादा पूरा कर दिया है.

उत्तर प्रदेश में फ़सल के लिए किसानों का लिया गया एक लाख रुपये तक का क़र्ज़ माफ़ किया जाएगा. यूपी सरकार किसानों का कुल 36 हजार 359 करोड़ रुपये का कर्ज़ माफ़ करेगी.

यूपी में दो करोड़ किसानों का कर्ज़ माफ़, 9 ख़ास फ़ैसले

इमेज कॉपीरइट AFP/GETTY

यूपी में पांच हजार 630 करोड़ रुपये का एनपीए है. उधर छोटे किसानों का कर्ज़ 30 हजार 729 करोड़ रुपये का फसल से संबंधित कर्ज माफ किया जाएगा.

सोशल मीडिया पर इस फ़ैसले की ख़ूब चर्चा है. पढ़िए किसने क्या लिखा-

इमेज कॉपीरइट Twitter

यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, ''वादा पूर्ण क़र्ज़ माफ़ी का था, किसी सीमा का नहीं. एक लाख की सीमा से करोड़ों किसान ठगा सा महसूस कर रहे है. ये गरीब किसानों के साथ धोखा है.''

अंबुज मुकेश लिखते हैं, ''योगी जी, किसानों का तो एक लाख तक का कर्ज माफ कर दिया, हमारा पनवाड़ी के यहां का 280 रुपया गुटखा, सिगरेट का बकाया है. वो भी माफ़ करवा दीजिए.''

इमेज कॉपीरइट facebook

हेमराज सिंह चौहान ने लिखा, ''मोदी जी अब कुछ करिए. वरना दूसरा आपकी जगह लेने को तैयार है?''

ताहिरा हसन लिखती हैं, ''किसानों की क़र्ज़ माफ़ी एक सराहनीय क़दम.''

दीपिका वर्मा ने ट्वीट किया, ''योगी जी ने यूपी के 86 लाख किसानों का 1 लाख तक का कर्ज माफ़ किया. किसानों को राहत. विपक्ष को आफत.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

@Sanchitastic ने ट्वीट किया, ''किसानों का 30,729 करोड़ का क़र्ज़ माफ़. वाह योगी जी, युवराज के छह छक्कों की बराबरी करके ही मानोगे.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

@Being_Stranger ने ट्वीट किया, ''कांग्रेस उम्मीद कर रही थी कि देश के सबसे बड़े किसान रॉबर्ट वाड्रा का कर्ज भी माफ़ होगा.''

इमेज कॉपीरइट facebook/Instagram
इमेज कॉपीरइट Facebook

रिहान फेसबुक पर लिखते हैं, ''आज राम नवमी के दिन यूपी कैबिनेट ने नौ फैसले लिए हैं.''

इमेज कॉपीरइट Facebook

अमीश राय ने फेसबुक पर लिखा, ''योगी सरकार का बढ़िया फैसला. छोटे-मझोले किसानों का लोन माफ. स्वागत करिए.''

इमेज कॉपीरइट TWITTER

अंजनी कुमार लिखते हैं, ''मोदी-योगी गरीब और मज़लूमों के सच्चा हितैषी हैं.''

इन दिनों क्या कर रहे हैं अखिलेश यादव?

योगी आदित्यनाथ और अपर्णा यादव की मुलाकातों की वजह?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)