चप्पल मारने वाले सांसद रवींद्र गायकवाड़ बोले, 'विनम्रता मेरे स्वभाव में'

  • 6 अप्रैल 2017
रवींद्र गायकवाड़ इमेज कॉपीरइट Twitter

पिछले महीने एयर इंडिया के कर्मचारी को विमान में ही कथित तौर पर चप्पल मारने और पत्रकारों से बातचीत में इसे स्वीकारने वाले शिवसेना सांसद जब गुरुवार को संसद पहुँचे तो बवाल मच गया.

सांसद रवींद्र गायकवाड़ और अन्य शिवसेना सांसदों ने उनके भारत में कहीं से भी उड़ान भरने पर लगी पाबंदी का विरोध किया.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक विमानन मंत्री अशोक गजपति राजू ने कहा कि गायकवाड़ भी एक मुसाफिर और विमान की सुरक्षा के साथ समझौता नहीं किया जा सकता.

एयर इंडिया ने फिर रद्द किया गायकवाड़ का टिकट

शिवसेना के सांसदों ने लोकसभा में ही राजू का घेराव करने का प्रयास किया और शिवसेना के अनंत गीते राजू की ओर बढ़े तो भाजपा के अन्य केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता उन्हें बाहर ले गए.

गायकवाड़ ने क्या दी सफ़ाई?

इससे पहले गायकवाड़ ने लोकसभा में कहा, ''लोकतंत्र के सदन में मैं खड़ा हूं, इसलिए नहीं कि मुझ पर लगा आरोप सही है या गलत. एयर इंडिया के कर्मचारियों ने कैसा दुर्व्यवहार किया, मैं ये बताने के लिए खड़ा हूं.''

इमेज कॉपीरइट Reuters

उन्होंने कहा, ''मैं न्याय की अपेक्षा करता हूं. मैंने किया क्या है कि बिना जांच के मीडिया ट्रायल किया गया. मैं पुणे से दिल्ली जा रहा था. बिजनेस टिकट थी लेकिन इकोनॉमी में बैठाया. दिल्ली पहुंचने के बाद उतरते वक़्त शांति से क्रू से पूछा कि मुझे शिकायत पुस्तिका दो. लेकिन वो बोले, नहीं है.''

गायकवाड़ ने कहा, ''45 मिनट बाद एक अफ़सर आया. मैंने पूछा कि आप कौन हो, तो वो बोला कि मैं एयर इंडिया का बाप हूं. फिर मुझसे पूछा कि आप कौन हो, तो मैंने कहा कि मैं एमपी हूं तो उसने कहा कि एमपी हो, कोई नरेंद्र मोदी थोड़े ना हो.''

'एयर इंडिया स्टाफ़ की ग़लती'

शिवसेना सांसद ने कहा कि उनकी कॉलर पकड़कर धकेलने की कोशिश की गई, जिस पर उन्हें गुस्सा आ गया. उनका आरोप है कि एयर इंडिया के लोगों ने उनके साथ गाली-गलौज की, अपशब्द इस्तेमाल किए और बाद में एयर होस्टेस ने उनके पक्ष में बयान दिया कि ऐसा हुआ था.

इमेज कॉपीरइट Twitter
इमेज कॉपीरइट Twitter

उन्होंने कहा, ''और मुझ पर सभी एयरलाइंस ने उड़ान की पाबंदी लगा दी है. मैं टीचर हूं और विनम्रता मेरे स्वभाव में है. मैं संसद से क्षमा मांगता हूं, पर उस अफ़सर से नहीं. मेरे ऊपर हत्या की कोशिश का मामला दर्ज किया गया जिसे वापस लिया जाना चाहिए.''

हाल में ख़बरें आई थीं कि गायकवाड़ ने एयर टिकट बुक कराने की कोशिश की, जिसे रद्द कर दिया गया. इस पर उन्होंने कहा, ''मेरे नाम से सात टिकट लिया गया. मैं कहीं गया ही नहीं था. और मीडिया ने चलाया कि मेरा टिकट कैंसल किया गया.''

सोशल मीडिया पर चटखारे

ये मामला सोशल मीडिया में भी छाया हुआ है. लोग इस पर अपना पक्ष रख रहे हैं.

आनंद ने टि्वटर पर लिखा है, ''शिवसेना के सांसद रवींद्र गायकवाड़ को गिरफ़्तार किया जाना चाहिए. वो संसद में बयान कैसे दे रहे हैं.''

इमेज कॉपीरइट Twitter
इमेज कॉपीरइट Twitter
इमेज कॉपीरइट Twitter

अनंत ने आगे लिखा है, ''हमला करने के आरोप का सामना करने वाला शख़्स संसद में बयान दे रहा है.''

अनंत ने चुटकी लेते हुए लिखा है, ''लंचटाइम का मज़ाक - ब्रेकिंग न्यूज़. शिवसेना सांसद रवींद्र गायकवाड़ के सेलफोन से फ़्लाइट मोड का विकल्प ही हटा दिया गया है.''

अनुप्रिया का कहना है कि वो नौकरी बचाने के लिए संसद में माफ़ी मांग रहे हैं, जो नाकाफ़ी है.

अनिकेत ने हैरानी जताई है कि रवींद्र गायकवाड़ ने लोकसभा में दिए भाषण में 25 सैंडल मारने की बात नहीं कही.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे