हज़रत अली पर योगी का ट्वीट, क्रोधित हुए 'भक्त'

  • 12 अप्रैल 2017
योगी आदित्यनाथ का ट्वीट इमेज कॉपीरइट Twitter/myogiadityanath
Image caption मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने मंगलवार को हज़रत अली के जन्मदिन की बधाई यूपी के लोगों को दी थी

मंगलवार को हनुमान जयंती और हज़रत अली का जन्मदिवस एक साथ थे.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर हज़रत अली के जन्मदिन और हनुमान जयंती की बधाई उत्तर प्रदेश के लोगों को दी थी. योगी ने हज़रत अली के जन्मदिन की बधाई का ट्वीट पहले किया.

कट्टर हिंदूवादी की छवि रखने वाले योगी के हज़रत अली के जन्मदिन की बधाई के ट्वीट ने जहां कुछ लोगों को चौंकाया वहीं कई लोगों ने इस पर उनका शुक्रिया भी किया.

ट्विटर पर क़रीब बारह सौ बार योगी के बधाई ट्वीट पर जवाब दिया गया.

इमेज कॉपीरइट PTI

नितिन निशांत ने लिखा, "यही होनी चाहिए बदलते भारत की तस्वीर. हम एक बनें नेक बनें! हज़रत अली के जन्मदिन एवं हनुमान जयंती की सभी को बधाई!"

जीतेंद्र चौबे ने लिखा, "मुख्यमंत्री हिंदू या मुस्लिम नहीं होता. वो सारे प्रदेश का मुख्यमंत्री होता है सभी धर्मों का रक्षक होता है."

इमेज कॉपीरइट Twitter

योगी के ट्वीट पर जबाव देते हुए तारिक़ अली ने लिखा, "मुख्यमंत्री योगी जी और समस्त देशवासियों को हनुमान जयंती की शुभकामनाएं. जय हनुमान ज्ञान गुणसागर, जय कपीस तिहू लोक उजागर."

तारिक़ की तरह ही सलमान हैदर ज़ैदी, अमबर रिज़वी और जुनैद अहमद ने भी योगी के ट्वीट के जबाव में हनुमान जयंती की शुभकामनाएं दीं.

इमेज कॉपीरइट Twitter

लेकिन सभी को योगी की ये सद्भभावना पसंद नहीं आई.

वीर योद्धा नाम से चल रहे अकाउंट से लिखा गया, "आज आपको भी सेक्युलर बधाई देते देख मुझे यह विश्वास हो गया है कि सत्ता मिलते ही बड़े से बड़ा हिंदुत्ववादी सेक्युलर बन जाता है."

इमेज कॉपीरइट FACEBOOK @YOGIADITYANATH

प्रदीप कुमार ने ट्वीट किया, "सर ये तो कुछ ज़्यादा हो गया, आज हामिद अंसारी से हनुमान जयंती की शुभकामनाएं लीजिए."

इमेज कॉपीरइट Twitter
इमेज कॉपीरइट Twitter

आरएस शर्मा ने योगी को याद दिलाया कि आपके मुंह से जय श्रीराम अच्छा लगता है.

उन्होंने ट्वीट किया, "सर आपसे यूपी की जनता को बहुत ज़्यादा उम्मीद है आप जो थे वो यूपी की जनता को मंजूर है. आपके मुँह से जय श्रीराम अच्छा लगता है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे