सोशल: सैनिक को एक थप्पड़, 100 जिहादियों की मौत: गंभीर

गौतम गंभीर इमेज कॉपीरइट Facebook/GautamGambhir

सोशल मीडिया पर इन दिनों एक वीडियो ख़ूब वायरल हो रहा है जिसमें सामान लेकर जा रहे जवानों को लात मारी जा रही है और साथ में नारेबाज़ी हो रही है.

ऐसी ख़बरें हैं कि ये वीडियो कश्मीर का है जहां उप चुनावों के दौरान ऐसा हुआ.

इमेज कॉपीरइट Twitter

सीआरपीएफ़ के डीआईजी (श्रीनगर) संजय कुमार ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा कि वो ये पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि वीडियो में नज़र आ रहे जवान कौन हैं.

उन्होंने कहा, ''हमने स्थानीय पुलिस के सामने ये मामला उठाया है ताकि जवानों को तंग करने वाले लोगों की पहचान की जा सके. सैनिकों की पहचान भी की जा रही है. और पता लगने के बाद मैं संयम दिखाने के लिए इन सैनिकों को सम्मानित करने की सिफ़ारिश करूंगा.''

इमेज कॉपीरइट Twitter
इमेज कॉपीरइट Twitter

सोशल मीडिया पर कई लोग इस वीडियो पर नाराज़गी जता रहे हैं. और इस मामले में अब क्रिकेटर गौतम गंभीर भी कूद पड़े हैं.

उन्होंने पहले इस वीडियो से जुड़ी एक ख़बर ट्वीट की और फिर इसके बाद लिखा, ''सेना के एक जवान को मारे जाने वाले हरेक थप्पड़ पर कम से कम 100 जिहादियों की ज़िंदगी. जिन्हें आज़ादी चाहिए, वो चले जाएं. कश्मीर हमारा हैं.''

इसके बाद गंभीर ने लिखा, ''भारत विरोधी भूल गए हैं कि हमारे झंडे का मतलब यही है - भगवा हमारे गुस्से की आंच है, सफ़ेद जिहादियों के लिए कफ़न और हरा आतंक से हमारी नफ़रत.''

इमेज कॉपीरइट Twitter
इमेज कॉपीरइट Twitter

इसके बाद वीरेंद्र सहवाग ने ये वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा है, ''इसे स्वीकार नहीं किया जा सकता! सीआरपीएफ़ जवानों के साथ ऐसा नहीं किया जा सकता. इसे रोकना ही होगा. बदतमीज़ी की हद है.''

गंभीर के ट्वीट के बाद उनका समर्थन करते हुए लोगों ने ट्वीट किया.

इमेज कॉपीरइट Twitter

रक्तिम चक्रबर्ती ने लिखा है, ''ये शर्मनाक है. इसे देखकर मेरा दिल टूट गया है. जीएसटी बाद में लागू करो, पहले इन सैनिकों के हाथ खोल दो.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे