मंदिर और गुरुद्वारा की बात भी तो कही थी: सोनू

इमेज कॉपीरइट AFP

सोनू निगम ने अपने एक ट्वीट से पैदा हुए विवाद पर स्पष्टीकरण दिया है.

सोनू निगम ने ट्विटर पर लिखा, "जो लोग मेरे ट्वीट्स को मुस्लिम विरोधी बता रहे हैं वो बताएं कि किस जगह मैंने ऐसा कुछ कहा है. मैं माफ़ी मांग लूंगा."

सोनू ने कहा, मैं मुसलमान नहीं फिर अजान से क्यों जगूं

सोनू ने आगे ये भी लिखा, "जब मैं लाउड स्पीकर की बात कर रहा हूं तो मैंने मंदिरों और गुरुद्वारों का भी ज़िक्र किया था. क्या ये बात समझनी इतनी मुश्किल है?"

इमेज कॉपीरइट @sonunigam

इससे पहले सोनू निगम ने लिखा था, ''ऊपरवाला सभी को सलामत रखे. मैं मुसलमान नहीं हूं और सवेरे अज़ान की वजह से जागना पड़ता है. भारत में ये जबरन धार्मिकता कब थमेगी.''

हलांकि उन्होंने आगे ये भी लिखा था, ''मैं ऐसे किसी मंदिर या गुरुद्वारे में यक़ीन नहीं रखता जो लोगों को जगाने के लिए बिजली (लाउडस्पीकर) का इस्तेमाल करते हैं. जो धर्म में यक़ीन नहीं रखते. फिर क्यों? ईमानदारी से बताइए? सच क्या है?''

इमेज कॉपीरइट @sonunigam

लेकिन सोशल मीडिया पर इसके फ़ौरन बाद हंगामा शुरू हो गया और जहां कुछ लोग सोनू के पक्ष में खड़े दिखे वहां कई लोगों ने उनके बयान पर उन्हें मुसलमानों और इस्लाम का विरोधी क़रार दिया.

उसी के जवाब में सोनू ने ये ट्वीट किया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे