अब सोनू निगम की हिमायत में उतरे सुनील ग्रोवर

  • 19 अप्रैल 2017
इमेज कॉपीरइट Sunil Grover, Facebook

बॉलीवुड पार्श्वगायक सोनू निगम के ट्वीट पर विवाद थमता नहीं नज़र आ रहा. सोनू निगम के ट्वीट के बारे में कॉमेडियन सुनील ग्रोवर ने कहा है कि वो किसी की धार्मिक भावनाओं को आहत नहीं कर सकते.

एक ट्वीट में उन्होंने लिखा, "मैं सोनू निगम को जानता हूं. वो किसी की भी धार्मिक भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचा सकते. वो सबका सम्मान करते हैं. उनकी बातों के सांप्रदायिक रंग मत दीजिए."

मंदिर और गुरुद्वारा की बात भी तो कही थी: सोनू

अभिनेत्री ऋचा चड्ढा ने भी ट्वीट कर लिखा, "लोग आपके ट्वीट का ग़लत मतलब निकालेंगे और इसे सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश करेंगे. लेकिन जो आपको जानते हैं वो ये भी जानते हैं आपका इरादा नफ़रत फैलाना नहीं था."

'मैं मुसलमान नहीं फिर अज़ान से क्यों जगूं?'

सुनील ग्रोवर से बोले ऋषि कपूर, मिल जाओ यारों

अभिनेत्री रेणुका शहाणे ने भी एक फेसबुक पोस्ट में सवाल किया है कि भगवान हमारी खामोशी भी सुन सकता है तो हम बिना आवाज़ किए उनके प्रति अपनी अधिक भक्ति कैसे दिखाएंगे.

उन्होंने लिखा "उन्हें अपनी बात कहने का पूरा हक है और मैं इसका सम्मान करती हूं. हां पर ये ज़रूर है कि कहने का तरीका थोड़ा सही नहीं था. संगीत के उनके लंबे कैरियर में शायद ये एक ही ग़लत धुन होगी, या फिर वो 'राइट' नोट लगाने की कोशिश कर रहे हैं. उपरवाला जाने."

सोनू निगम ने सोमवार के कई ट्वीट कर कहा था "ऊपरवाला सभी को सलामत रखे. मैं मुसलमान नहीं हूं और सवेरे अज़ान की वजह से जागना पड़ता है. भारत में ये जबरन धार्मिकता कब थमेगी."

इस ट्वीट के लिए उन्हें ट्रोल किया गया और कई लोगों ने उन्हें मुसलमानों और इस्लाम का विरोधी बताया. हालांकि कई लोग उनके समर्थन में भी नज़र आए.

'शुक्र है कि सोनू निगम ने हिम्मत तो दिखाई'

सोनू निगम के चक्कर में फँसे सोनू सूद

सोशल मीडिया पर उठे हंगामे के बाद सोनू निगम ने ट्वीट किया "जो लोग मेरे ट्वीट्स को मुस्लिम विरोधी बता रहे हैं वो बताएं कि किस जगह मैंने ऐसा कुछ कहा है. मैं माफ़ी मांग लूंगा."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे