सोशल- हवस मिटाने के लिए तीन तलाक का इस्तेमाल कर रहे हैं मुस्लिम: मौर्य

तीन तलाक इमेज कॉपीरइट AFP

उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने तीन तलाक मुद्दे पर विवादास्पद बयान दिया है.

मौर्य ने बस्ती में एक कार्यक्रम के दौरान शुक्रवार को कहा- मुस्लिम तीन तलाक का इस्तेमाल पत्नियां बदलने और अपनी हवस मिटाने के लिए करते हैं.

मौर्य ने आगे कहा,

  • ''बीजेपी ऐसी मुस्लिम महिलाओं के साथ है, जिन्हें बेवजह और मनमाने ढंग से तीन तलाक दिया गया.
  • तीन तलाक का कोई आधार नहीं है. अगर कोई सिर्फ अपनी हवस शांत करने के पत्नी बदल रहा है और पत्नी, बच्चों को सड़क पर भीख मांगने को मजबूर कर रहा है, इसे कोई अधिकार नहीं कहेगा.''
इमेज कॉपीरइट AFP, TWITTER

ऐसे में मौर्य के बयान की सोशल मीडिया पर चर्चा हो रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन तलाक मुद्दे पर राजनीति न करने की नसीहत दी है.

मौर्य के बयान पर क्या बोले सोशल मीडिया यूजर्स?

शमशाद खान ने फेसबुक पर लिखा, ''इस मंत्री को एक बार वृंदावन आश्रम और बनारस आश्रम में जाना चाहिए. जहां हजारों की संख्या में विधवा औरतें हैं, जिनको घर से निकाल दिया गया. उसके बारे में सोचो?''

इमेज कॉपीरइट Facebook

नियाज़ अहमद ने कहा, ''बिना तलाक पत्नी को छोड़ने वाले लोगों के बारे में भी कुछ विचार करेंगे महाराज?''

इमेज कॉपीरइट Twitter

करुणा त्यागी ने ट्वीट किया, ''स्वामी प्रसाद मौर्य ने बिलकुल सही बात कही है लेकिन लेकिन कड़वे तरीके से. वरना तलाक के बाद कुछ दिनों में बिना दर्द के मुस्लिम शादी क्यों कर लेते हैं.''

सुनीता लिखती हैं, ''मौर्य को बोलने से पहले एक बार सोच तो ज़रूर लेना चाहिए.''

प्रवीण अरोड़ा लिखते हैं, ''मैं मौर्य के बयान से सहमत हूं.''

'मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड तीन तलाक़ पर लीपापोती कर रहा है'

तीन तलाक़ अपने आप में शोषण है: जावेद अख़्तर

पोस्टकार्ड से भेजा तलाक़, हो गए गिरफ़्तार

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)