सोशल: '..बेवकूफ़ों चुनाव आयोग या सुप्रीम कोर्ट जाओ'

  • 9 मई 2017
Kejriwal इमेज कॉपीरइट Getty Images

दिल्ली में आम आदमी पार्टी सरकार ने विधानसभा का विशेष सत्र बुलाकर मतदान में इस्तेमाल होने वाली इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन पर सवाल उठाए हैं.

आप विधायक सौरभ भारद्वाज ने सदन में बताया कि कैसे ईवीएम से छेड़छाड़ की जा सकती है.

दिल्ली विधानसभा के इस विशेष सत्र की सोशल मीडिया पर ज़बरदस्त प्रतिक्रिया हो रही है. यही वजह है कि ##DelhiAssembly मंगलवार को ट्विटर पर शीर्ष ट्रेंड है.

इमेज कॉपीरइट TV GRAB

'दिल्ली विधानसभा में ईवीएम से छेड़छाड़ का लाइव डेमो'

केजरीवाल जी मुझे विजय आशीर्वाद दो- कपिल मिश्रा

इमेज कॉपीरइट Twitter

आम आदमी पार्टी के अधिकारिक अकाउंट से लिखा गया, "नई ईवीएम के होते हुए भी एमसीडी चुनाव के लिए राजस्थान से पुरानी मशीनें मंगवा के चुनाव कराए गए. क्यों?"

मनोज नायर ने लिखा, "आप ने बहुत तेज़ी से सबक सीख लिया है. अदालती मुक़दमों से बचने के लिए सभी आरोप सदन में लगाए जा रहे हैं ताक़ि क़ानूनी कार्रवाई का सामना न करना पड़े."

विवेक शर्मा ने लिखा, "दिख रहा है कि इस खेल में कौन हार गया है. श्रीमान मुख्यमंत्री, भ्रष्टाचार के आरोपों और सत्येंद्र जैन का क्या?"

कृष्णा ने ट्वीट किया, "सौरभ भारद्वाज ने सदन में समझाया कि 2015 के चुनाव में आम आदमी पार्टी ने 70 में से 67 सीटें कैसे जीती थीं."

आरती ने लिखा, "जैसा कि अनुमान था भारतीय मीडिया ने दिल्ली विधानसभा में ईवीएम में धांधली के लाइव डेमो पर चुप्पी साध ली है."

अरविंद केजरीवाल ने कपिल मिश्रा की छुट्टी की

सोशल- मैक्रों को बधाई देने पर केजरीवाल को किया ट्रोल

इमेज कॉपीरइट Twitter

आशु सिंह ने ट्वीट किया, "इतिहास में पहली बार यूपी और ईवीएम पर चर्चा के लिए दिल्ली विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया गया है. बेवकूफ़ों चुनाव आयोग या सुप्रीम कोर्ट जाओ."

मुदित अग्रवाल ने लिखा, "दिल्ली विधानसभा में जो कुछ कहा गया है उसे अदालत में चुनौती नहीं दी जा सकती है और सरजी जैन से मिले दो करोड़ को जेठमलानी पर ख़र्च नहीं करना चाहते हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे