सोशल: 'मां को नहीं पता- क्या होता है मदर्स डे'

  • 14 मई 2017
मदर्स डे इमेज कॉपीरइट AFP

हमारी ज़िंदगी का हर दिन मां की देन है. ऐसे में मां को याद करने के लिए किसी ख़ास दिन की ज़रूरत नहीं है.

फिर भी एक दिन है, मदर्स डे यानी मांओं का दिन. आज लोग मदर्स डे मना रहे हैं.

सोशल मीडिया पर भी लोग अपनी मां को याद करते हुए लिख रहे हैं. #MothersDay रविवार सुबह से ही टॉप ट्रेंड में शामिल है.

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

ट्विटर पर क्रिकेट के फैक्टस बताने वाले मोहनदास मेनन ने लिखा, ''मदर्स डे पहली बार 1908 में मनाया गया था.''

प्रेरणा त्यागी लिखती हैं, ''मां बस मां है. मां एक शब्द नहीं. इसकी कोई परिभाषा नहीं. कोई व्याख्या नहीं.''

इमेज कॉपीरइट facebook

शबनम ने ऐसे लोगों पर तंज किया, जो मदर्स डे को सोशल मीडिया पर मनाने वाले लोगों का मजाक उड़ाया.

शबनम ने फेसबुक पर लिखा, ''हर दिन मां का होता है.. कहने वाले लोगों, तुम कहां हो. ये सब ज्ञान वूमेन्स और वेलेंटाइंस डे पर ही निकलता है.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने लिखा, ''मैं पहली नज़र में प्यार होने में यकीन रखता हूं. मैंने जब से अपनी आंखें खोली हैं, तब से मां से प्यार करता हूं.''

इमेज कॉपीरइट Facebook

रितेश ने लिखा, ''मेरी मां को ये नहीं मालूम है कि मदर्स डे क्या होता है. लेकिन मैं जानता हूं कि मां मेरे लिए क्या हैं. वो मुझे दुनिया में सबसे ज्यादा खुश देखना चाहती हैं.''

मां का पसंदीदा खाना मालूम है?

इमेज कॉपीरइट Sumer Singh Rathore

हमें खाने में क्या पसंद है और क्या नहीं. ये मां को मालूम होता है. लेकिन क्या आपको मालूम है कि आपकी मां को खाने में सबसे ज़्यादा क्या पसंद है.

ये सवाल हमने बीबीसी हिंदी के पाठकों से पूछा. कुछ को सवाल का जवाब मालूम था और कुछ को नहीं.

संजय सिंह ने लिखा, ''माफ़ कीजिएगा. नहीं मालूम है. अपने बारे में सोचकर अजीब लगा, क्योंकि मेरी मां को सब पता है.''

मानिक फेसबुक पर लिखते हैं, ''बच्चों को संतुष्टि से खिलाने के बाद जो बच जाता है, वही डिश मेरी मां को पसंद है.''

अबु बकर ने लिखा, ''नहीं मालूम. शर्मिंदा हूं. मेरी मां ने अपनी सारी ख्वाहिशें मेरी ख़ातिर कुर्बान कर दी.''

जिन्हें पसंद नहीं आया 'मदर्स डे'

मदर्स डे पर किसी को माँ की गाली नहीं दी?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे