कुलभूषण केस में हरीश साल्वे की फ़ीस है-एक रुपया

  • 16 मई 2017
इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption हरीश साल्वे

सोशल मीडिया में एक व्यक्ति की टिप्पणी का जवाब देते हुए भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने लिखा है कि कुलभूषण केस में हरीश साल्वे ने मात्र एक रुपया फ़ीस ली है.

सुषमा ने इनटोलरेंट भारतीय नाम के एक ट्विटर हैंडल के ट्वीट का जवाब देते हुए ये लिखा. उन्होंने लिखा, "इस केस के लिए हरीश साल्वे ने फ़ीस के तौर पर केवल एक रुपया लिया है."

जाधव मामले में क्यों मजबूत है भारत का पक्ष

कुलभूषण जाधव मामले में क्या है भारत की दलील?

भारत के पूर्व नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव इस समय पाकिस्तान की जेल में बंद हैं और वहाँ की सैन्य अदालत ने उन्हें फाँसी की सज़ा सुनाई है. भारत इस मामले को लेकर हेग स्थित इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ़ जस्टिस गया था, जहाँ इस पर सोमवार को सुनवाई हुई. हरीश साल्वे ने इस अदालत में भारत का पक्ष रखा है.

इनटोलरेंट भारतीय नाम के एक ट्विटर हैंडल ने लिखा था, "भारत का कोई भी अच्छा वकील यही कर सकता था- न्याय का इंतज़ार, और वो हरीश साल्वे से कम ही फ़ीस लेता."

वो अशोक पंडित नाम के एक फ़िल्ममेकर के ट्वीट का उत्तर दे रहे थे. अशोक पंडित ने ट्वीट किया था, "शुक्र है कि इंटरनेश्नल कोर्ट ऑफ़ जस्टिस में भारत की तरफ से सलमान ख़ुर्शीद या कपिल सिब्बल ने केस नहीं लड़ा बल्कि हरीश साल्वे ने केस लड़ा."

भारत पर 'राजनीतिक ड्रामा' करने का आरोप

कुलभूषण जाधव: 'बेकार जाएगा भारत का अंतरराष्ट्रीय कोर्ट जाना'

सुषमा स्वराज के ट्वीट को एक हज़ार से अधिक रीट्वीट मिल चुके हैं. सोशल मीडिया पर कई लोग ने उनके ट्वीट के के बारे में बात कर रहे हैं.

सुधांशु आर सिंह ने लिखा, "क्या वाकई? हरीश साल्वे के लिए मेरे मन में इज़्ज़त बढ़ गई है."

कुलभूषण जाधव की फांसी पर ICJ ने लगाई 'रोक'

कुलभूषण जाधव मामले में क्या है भारत की दलील?

प्राउड इंडियन नाम के एक ट्विटर हैंडल ने लिखा, उनपर और ख़ुद के भारतीय होने पर गर्व है... अपने को इतना सुरक्षित कभी महसूस नहीं किया. सरकार और हरीश साल्वे दोनों को शुक्रिया.

इंद्रनील भरत ने लिखा, "अब पाकिस्तान को हराना हुआ सस्ता... सिर्फ़ एक रुपये में."

लेकिन कई लोगों ने समलान के हिट एंड रन मामले को याद किया है जसकी पैरवी भी साल्वे ने ही की था.

आशुतोष लिखते हैं, "हरीश साल्वे सलमान के लिए भी लड़े थे. समझो जीत पक्की."

पढ़ें- सलमान ख़ान को बेल या जेलदी

कैलाश वाघ ने लिखा, "देश को पता है कि उनकी पृष्ठभूमि क्या है. ये काम सिर्फ़ भारत में ही हो सकता है."

इससे पहले एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा था, "क्या उन्होंने उच्च न्यायालय में हिट एंड रन केस में नहीं बचाया था. इसमें तो हत्या के आरोप लगे थे."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे