'आप' नेताओं को सता रहा है गिरफ़्तारी का डर!

  • 16 मई 2017
केजरीवाल और मनीष सिसौदिया इमेज कॉपीरइट EPA

आम आदमी पार्टी से जुड़े पत्रकार आशीष खेतान ने मंगलवार सुबह पार्टी नेताओं की गिरफ़्तारी का अंदेशा ज़ाहिर करते हुए ट्वीट किए हैं.

खेतान ने लिखा, "छह एजेंसियां- सीबीआई, प्रवर्तन निदेशालय, आयकर विभाग, गंभीर अपराध जांच विभाग, एसीबी और आईबी आम आदमी पार्टी और केजरीवाल के पीछे चौबीस घंटे पड़े हैं. कोई इस तरह पहले कभी किसी के पीछे नहीं पड़ा है."

इस ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए आम आदमी पार्टी की अतीशी मारलेना ने लिखा, "इस पर स्वतंत्र मीडिया की ख़ामोशी भी अभूतपूर्व है."

कार्टून: गर्मियों में केजरीवाल का मफलर

नज़रिया: ख़ामोश क्यों हैं अरविंद केजरीवाल?

इमेज कॉपीरइट Twitter

एक और ट्वीट में खेतान ने लिखा, "आने वाले दिनों में कई एफ़आईआर दर्ज होंगे, छापे पड़ेंगे, चार्जशीट दाख़िल होंगी और गिरफ़्तारियां होंगी. अगर ये आपातकाल नहीं है तो मैं नहीं जानता कि आपातकाल क्या होता है."

खेतान को जवाब देते हुए सुबीर रॉय ने ट्विटर पर लिखा, "आप सही कह रहे हैं ये आपातकाल आम आदमी पार्टी ने पैदा किया है और अब मोदी सरकार को इसे ठीक करना है."

चंद्रेश ने ट्वीट किया, "तो आपको अच्छी तरह पता है कि आप की ग़लतियां पकड़ी गई हैं इसलिए आपने पहले से ही पीड़ित कार्ड खेलना शुरू कर दिया."

उदय ने ट्वीट किया, "हम उम्मीद करते हैं कि केजरीवाल सामने आएंगे और कपिल मिश्रा के आरोपों पर जवाब देंगे."

अरविंद केजरीवाल ने कपिल मिश्रा की छुट्टी की

केजरीवाल की कितनी प्राण रक्षा करेगी ईवीएम?

इमेज कॉपीरइट Twitter

वहीं केजरीवाल सरकार के पूर्व मंत्री और अब विरोधी कपिल मिश्रा ने मंगलवार सुबह ट्वीट किया, "आज समय के पहिए का एक चक्र पूरा हुआ. अरविंद केजरीवाल क्या करने आए थे और क्या-क्या करते पकड़े गए. देश से धोखा करने से पहले एक बार सोच लेते."

कपिल मिश्रा ने केजरीवाल पर भ्रष्टाचार के बेहद गंभीर आरोप लगाए हैं. अरविंद केजरीवाल ने अभी तक कपिल मिश्रा के आरोपों पर जवाब नहीं दिया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे