सोशल: जाधव मामले पर जब कैफ़ से कहा गया, नाम से मोहम्मद हटा लो

  • 19 मई 2017
इमेज कॉपीरइट Getty Images

कुलभूषण जाधव मामले में इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ़ जस्टिस के आदेश के बाद भारत के कई नामी-गिरामी लोगों ने इस पर ख़ुशी जताई.

लेकिन क्रिकेटर मोहम्मद कैफ़ ने जब इस मामले पर बधाई दी, तो उन्हें पाकिस्तान के कई लोगों ने ट्रोल करना शुरू कर दिया और काफ़ी भला-बुरा कहा.

लालू ने मोदी को 'ट्विटर राजा' कहा, हुई ट्रोलिंग

दंगल गर्ल ज़ायरा के समर्थन में खुलकर आए आमिर ख़ान

'...तो हुकूमत देखकर उठाया अज़ान का मसला?'

'मैं मुसलमान नहीं फिर अज़ान से क्यों जगूं?'

इमेज कॉपीरइट Twitter

लेकिन मोहम्मद कैफ़ ने इनमें से जो एक का जवाब दिया, उसे हज़ारों री-ट्वीट मिले हैं.

आईसीजे के फ़ैसले के बाद मोहम्मद कैफ़ ने ट्वीट किया- बधाई हो भारत. इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ़ जस्टिस का शुक्रिया. न्याय की जीत हुई है.

कैफ़ से सवाल और जवाब

इमेज कॉपीरइट TWITTER

लेकिन इसके जवाब में ट्विटर हैंडल @AmirAk12 से आमिर अकरम ने लिखा- कृपया अपने नाम से मोहम्मद हटा लीजिए.

पाकिस्तान से ही वकास अहमद ने लिखा- आप मुसलमान भारत में इसी तरह रह सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट TWITTER

कैफ़ का जवाब

जबकि मुनीब अहमद ने लिखा- आपको शर्म आनी चाहिए कि आप एक आतंकवादी पर गर्व कर रहे हैं, जिसने कई निर्दोष पाकिस्तानियों की हत्या की है.

आमिर अकरम के अपने नाम से मोहम्मद हटाने वाले ट्वीट पर मोहम्मद कैफ़ ने लिखा- अगर मैं भारत की जीत का समर्थन करूँ, तो मुझे अपने नाम से मोहम्मद हटा लेना चाहिए. मुझे अपने नाम पर गर्व है. आमिर का मतलब होता है- जीवन से भरपूर. आपको भी एक की ज़रूरत है.

इमेज कॉपीरइट TWITTER

इसके जवाब में कई लोगों ने मोहम्मद कैफ़ का समर्थन किया. मोहम्मद आसिफ़ रज़ा ने लिखा- आमिर, आप पाकिस्तानी हो और हम भारतीय. कुलभूषण जाधव को न्याय मिला है, उससे हम ख़ुश हैं.

लेकिन आमिर अकरम ने मोहम्मद कैफ़ को फिर जवाब दिया और लिखा- भारत के अल्पसंख्यक मुसलमान होने के बाद मैं आपकी स्थिति समझ सकता हूँ. हमारे भारतीय मुस्लिम भाइयों के लिए इस तरह के ट्वीट ज़रूरी हैं.

इमेज कॉपीरइट TWITTER

समर्थक-विरोधियों में बहस

इसके जवाब में इमरान ने कैफ़ का समर्थन करते हुए लिखा- नहीं, भारत के मुसलमानों के लिए ये ज़रूरी नहीं. हम पूरी आज़ादी के साथ यहाँ शांति से रहते हैं. हम भारत से प्यार करते हैं.

लेकिन आमिर अकरम इतने पर ही नहीं रुके, आमिर ने इमरान के जवाब में ट्वीट किया- भारत में आज़ादी????? क्या मज़ाक है, क्या आप बीफ़ बर्गर खा सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट TWITTER

हालांकि बड़ी संख्या में लोगों ने कैफ़ के समर्थन में ट्वीट किए. समी अनवर ने लिखा है- मैं एक अल्पसंख्यक हूँ. मैंने कभी भी यहाँ किसी से डर नहीं महसूस किया है. भारत में जिस तरह मुझे अपने धर्म का पालन करने की आज़ादी है, वो किसी और देश में नहीं हो सकती.

इमेज कॉपीरइट TWITTER

सरदान ख़ान ने लिखा है- हिंदुस्तानी के नाम में मोहम्मद भी रहेगा और दिल में कुलभूषण जाधव भी.

इमेज कॉपीरइट TWITTER

बाद में मोहम्मद कैफ़ ने एक और ट्वीट किया- कोई भी किसी धर्म का ठेकेदार नहीं, इन ठेकेदारों के पास किसी नाम का कोई कॉपीराइट नहीं. भारत सबसे ज़्यादा मिल-जुल कर रहने वाले और सहिष्णु देश है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)