सोशल: शिवराज सिंह चौहान की वायरल फ़ोटो पर लोगों की चुटकी

  • 12 जून 2017
शिवराज इमेज कॉपीरइट Getty Images

मध्यप्रदेश में पुलिस की गोली से मारे गए पांच किसानों की मौत के बाद फ़ैली अशांति को 'शांत' करने के लिए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने अनिश्चितकालीन अनशन शुरू किया.

इसे दूसरे दिन ही सीएम शिवराज सिंह ने किसानों के कथित आग्रह पर नारियल-पानी पीते हुए तोड़ भी दिया.

'बोलती तस्वीर'

अनशन के दौरान कथित तौर पर किसानों के हित में कई घोषणाएं की गईं, लेकिन सोशल मीडिया पर इन घोषणाएं से ज़्यादा चर्चा शिवराज सिंह की एक 'सब कुछ बयां करती तस्वीर' की रही.

इमेज कॉपीरइट Twitter
Image caption वायरल हो रही है मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की यह तस्वीर

सीने पर हाथ रखकर कुछ दावा पेश करते शिवराज की यह फ़ोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है.

'गीत गाते शिवराज'

सोशल मीडिया पर ज़्यादातर लोगों ने इसे किसी न किसी गाने से जोड़ते हुए शेयर किया है और शिवराज सिंह पर चुटकी ली है.

फ़ेसबुक पर मोहम्मद अनस ने लिखा, "ऑडियंस आपके सामने पेश है, दर्दे दिल की आवाज़. एकमात्र अंदाज़- माननीय शिवराज. जी हां, शिवराज शिवराज शिवराज. पेश करते हैं लल्लू, पंचू, खमरिया और शौक़त की फ़रमाइश पर ये गीत- इश्क़ में हम तुम्हें क्या बताएं, किस कदर चोट खाए हुए हैं. मौत ने हमको मारा है और हम, ज़िंदगी के सताए हुए हैं."

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption आंदोलनकारी किसान

इस तस्वीर के साथ प्रतीक्षा ने लिखा, "ऐ मेरे वतन के लोगों... ज़रा आंख में भर लो पानी. जो 'किसान' मरे हैं उनकी, ज़रा याद करो कुर्बानी."

मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर से छात्र सुदीप्त लिखते हैं, "...कि मेरा चैन, मेरी नींद, मुझे लौटा दो! #Shivraj"

शम्मी की जगह शिवराज

फ़िल्म निर्देशक अविनाश दास ने भी इसपर टिप्पणी की. उन्होंने लिखा, "ब्रह्मचारी फ़िल्म का रीमेक बने तो कैसा रहे? शम्मी की जगह शिवराज... दिल के झरोखे में तुझको बिठाकर, यादों को तेरी मैं दुल्हन बना कर, रखूंगा मैं दिल के पास! मत हो मेरी जां उदास!!"

इमेज कॉपीरइट Getty Images

मध्यप्रदेश पुलिस द्वारा किसानों पर की गई फ़ायरिंग पर कमेंट करते हुए @Cawnporiah हैंडल से अंशुल दीक्षित लिखते हैं, "...कोई पत्थर से न मारे मेरे किसानों को."

हैदराबाद में रह रहे इंजीनियर अविनाश ने लिखा, "ये धोखे प्यार के धोखे, मैंने दिल पे सहे हैं रो रो के."

किसानों के मुद्दे और बेरोज़गारी भी

मोहित सारस्वत ने किसानों के मुद्दों के बीच सूबे में बेरोज़गारी पर भी टिप्पणी की. उन्होंने लिखा, 'म्हारे छोरे, बेरोज़गारों से कम हैं के!'

न्यूज़ एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ सोमवार को मध्यप्रदेश के मंदसौर में कई इलाकों से कर्फ़्यू हटा लिया गया. हालांकि, अपनी मांगों को लेकर किसानों का आंदोलन अभी भी जारी है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption सांकेतिक तस्वीर

इस बीच महाराष्ट्र सरकार ने किसान नेताओं से मुलाक़ात के बाद किसानों के क़र्ज़ माफ़ करने का फ़ैसला लिया है.

महाराष्ट्र सरकार के लोक निर्माण मंत्री चंद्रकांत पाटिल के मुताबिक सरकार के फ़ैसले से 31 लाख किसानों को फ़ायदा होगा. कुल 30,500 करोड़ रुपए का क़र्ज़ माफ़ किया जा रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार