सोशल: 'सानिया ने पाकिस्तानी से शादी की है, देशभक्ति साबित करनी होगी'

  • 17 जून 2017
सानिया मिर्ज़ा इमेज कॉपीरइट Getty Images

भारत और पाकिस्तान के बीच जब-जब क्रिकेट मैच होता है, दोनों ही मुल्कों में देशभक्ति साबित करने की होड़ लग जाती है.

इसकी पहली गाज उन लोगों पर गिरती है, जो निजी या बिजनेस की वजह से एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं.

मसलन, भारत की टेनिस खिलाड़ी और पाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब मलिक की पत्नी सानिया मिर्ज़ा.

....तो एक बार फिर सानिया से देशभक्ति का सबूत मांगिए

18 जून को भारत-पाक क्रिकेट मैच से पहले सानिया मिर्जा को सोशल मीडिया पर कुछ लोग फिर घेरने आ गए हैं. या ये कहें कि देशभक्ति साबित करने के लिए कह रहे हैं.

हमने बीबीसी हिंदी के पाठकों से कहासुनी के ज़रिए इस पर राय जानी.

इस सवाल पर 850 से ज्यादा लोगों की प्रतिक्रियाएं मिलीं. हम यहां आपको चुनिंदा कमेंट्स पढ़वा रहे हैं.

रियाद में रहनेवाले कामरान चौधरी लिखते हैं, ''शादी ब्याह इंसान अपने दिल, दिमाग और मज़हब से करता है और रही बात देशभक्ति की तो सानिया आज भी भारतीय टीम में खेलती हैं. तेलंगाना की ब्रांड अंबेसडर हैं.''

हिमांशु शेखर ने लिखा, ''क्योंकि 2014 से भारत में कुछ तथाकथित देशभक्त ज़्यादा हो गए हैं. उन्हीं तथाकथित लोगों को सिर्फ दिक्कत है, हम लोगों को नहीं. हम तो सानिया का पूरा समर्थन करते हैं.''

इंस्टाग्राम पर आलम अफरीदी लिखते हैं, ''यह तो सामान्य सवाल हैं. एक तो जन्मजात मुसलमान और फिर पाकिस्तानी की पत्नी.''

संदीप कुमार राज इंस्टाग्राम पर कमेंट करते हैं- सानिया को पाकिस्तान को सपोर्ट करना चाहिए. क्योंकि वो पाकिस्तानी है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

नारायण कहते हैं, ''देशभक्ति साबित करने के लिए इसलिए कहा जाता है. क्योंकि करोड़ों भारतीयों में सानिया को पति नहीं मिला और एक पाकिस्तानी को चुन लिया. पैसा और नाम भारत ने दिया.''

बोगल फोटोग्राफी नाम के यूजर ने लिखा, ''जो फायदे सानिया को भारत में रहकर मिले वो पाकिस्तानी बनकर कभी नहीं मिलेंगे.''

गिरा जोशी ने फेसबुक पर लिखा, ''कुछ मुट्ठी भर लोगों ने ये माहौल बना दिया है. जिसकी वजह से जो अच्छे और सच्चे देशप्रेमी मुस्लिम हैं, उनको भी अपनी देशभक्ति साबित करनी पड़ती है जो कि बहुत गलत बात है.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)