चंडीगढ़: भाजपा नेता के विवादित बयान पर बवाल

सांकेतिक तस्वीर

चंडीगढ़ में आईएएस की बेटी के साथ हुई छेड़छाड़ की घटना का मामला गर्माता जा रहा है. सोमवार को इस संदर्भ में आए भाजपा नेता के एक बयान ने विवाद बढ़ा दिया.

हरियाणा बीजेपी उपाध्यक्ष रामवीर भट्टी ने लड़की पर ही सवाल उठाते हुए एक न्यूज़ चैनल से कहा कि उसे रात 12 बजे के बाद बाहर नहीं रहना चाहिए था.

उनके अनुसार, माहौल सही नहीं है. हमें खुद ही अपनी सुरक्षा का ख़्याल रखना होगा. लड़की को देर रात कार नहीं चलानी चाहिए थी.

सोशल मीडिया पर ये मामला छाया हुआ है. एक वर्ग मानता है कि समाज महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं है तो वहीं एक वर्ग ऐसा भी है जो लड़की को ही कुसूरवार ठहरा रहा है.

चंडीगढ़ छेड़छाड़ मामले की CCTV फुटेज़ कहां?

हरियाणा भाजपा के अध्यक्ष सुभाष बरला के बेटे विकास बराला समेत दो लोगों पर छेड़छाड़ और पीछा करने का आरोप है.

इमेज कॉपीरइट Twitter

'मैं अगर गाड़ी रोकती तो शायद बच नहीं पाती'

एक ओर जहां भट्टी के अनुसार, सारा दोष लड़की का है वहीं चंडीगढ़ से बीजेपी सांसद किरन खेर का कहना है कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है. ऐसा किसी के साथ नहीं होना चाहिए. साथ ही औरत की इज्ज़त और मर्यादा को राजनीति से दूर रखना चाहिए.

सांसद अनुराग ठाकुर ने भी इस घटना की निंदा की है.

उन्होंने ट्वीट किया है कि लड़की रात के साढ़े बारह बजे बाहर थी, इस बात पर सवाल उठाने से बेहतर होगा कि हम उन लोगों की सोच पर सवाल करें। हर एक की निजता का सम्मान किया जाना चाहिए.

रेप के बाद गर्भवती हुई बच्ची की कहानी...

वहीं बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने इस मामले में जनहित याचिका दायर करने की बात कही है.

इमेज कॉपीरइट Twitter

आपको बता दें कि पीड़िता आईएएस अधिकारी की बेटी है. जिसने अपनी कार का पीछा किए जाने और छेड़खानी करने की शिकायत 100 नंबर पर कॉल करके दी थी.

जिसके कुछ देर बाद ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया. हालांकि उन्हें बाद में दोनों युवकों को ज़मानत पर छोड़ दिया गया.

हरियाणा भाजपा के अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे के इस मामले में शामिल होने की वजह से यह राजनीतिक रंग लेता जा रहा है.

हालांकि पुलिस ने यह दावा किया है कि जांच निष्पक्ष तरीक़े से आगे बढ़ रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे