सोशल: बेटे के 'कान्हा' बनने पर ख़ुश हैं नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी

नवाजुद्दीन सिद्दीकी, कृष्ण, जन्माष्टमी, धर्म, भारत, हिंदू, मुस्लिम, सोशल मीडिया इमेज कॉपीरइट Twitter

बॉलीवुड की अपनी फ़िल्मों में जानदार एक्टिंग के लिए मशहूर नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी इन दिनों बेहद ख़ुश हैं. इस ख़ुशी की वजह है उनका प्यारा बेटा, जिसे उसके स्कूल में 'कान्हा' की तरह सजाया गया है.

उन्होंने अपने ऑफ़िशियल फ़ेसबुक और ट्विटर अकाउंट पर एक तस्वीर शेयर की है. फ़ोटो में उनका छोटा सा बेटा नारंगी रंग के चमकीले कपड़ों में सजा, माथे पर मोरपंख और होठों पर बांसुरी लगाए नज़र आ रहा है.

इमेज कॉपीरइट Twitter

तस्वीर के साथ नवाज़ुद्दीन ने लिखा,''मैं बहुत ख़ुश हूं कि मेरे बच्चे के स्कूल ने उसे 'नटखट कान्हा' की भूमिका निभाने का मौका दिया.'' स्कूल ने जन्माष्टमी के मौके पर उनके बच्चे को कृष्ण के रोल के लिए चुना है.

इस तस्वीर को सोशल मीडिया पर लोग ख़ूब पसंद कर रहे हैं. पीयू ने ट्विटर पर लिखा,''यह हमारे भारत की ख़ूबसूरती है.'' ऋषि रंजन ने लिखा,''सर्वधर्म समभाव का उत्कृष्ट उदाहरण नवाज़ भाई.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

गौरव पांडेय ने लिखा,''सर, वो बहुत प्यारा लग रहा है. अल्लाह इसे ख़ुशियों और सेहत वाली ज़िंदगी दे.'' नवेद अहमद ने ट्वीट किया,''यही भारत की वो ख़ूबसूरती है जिसे नेता सत्ता और पावर के लिए ख़त्म करना चाहते हैं.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

हालांकि जैसा हमेशा होता है, कुछ लोगों को यह रास नहीं आया. हालांकि ज़्यादातर लोग नवाज़ के समर्थन में दिखे और इस तस्वीर के लिए उनकी तारीफ़ भी की.

बुतों को गढ़ने वाला मुसलमान

मुसलमान नहीं सिख हैं इस दरगाह के ख़ादिम

फ़ेसबुक पर भी लोग नवाज़ की प्रशंसा करते नज़र आए. वहीं, कुछ लोगों ने चुटकी लेते हुए किसी भी तरह के फतवे के लिए तैयार रहने को कहा.

इमेज कॉपीरइट Facebook

पिछले साल नवाज़ अपने गांव की रामलीला में मारीच का किरदार निभाने वाले थे लेकिन आख़िरी मौके पर शिवसेना के दख़ल के बाद उन्हें हटना पड़ा. इससे वह बहुत दुखी हुए थे और कहा था कि उनके बचपन का सपना टूट गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे