पाकः मुंबई हमलों की सुनवाई टली

पाकिस्तान की एक अदालत में शनिवार को शुरू होने वाली मुंबई हमलों से संबंधित सुनवाई अगले सप्ताह तक के लिए टल गई है.

पाकिस्तान में मुंबई हमलों के लिए अभियुक्त ठहराए गए पाँच लोगों के वकील ने बताया कि अदालत ने इस सुनवाई को अगले सप्ताह तक के लिए टाल दिया है.

ग़ौरतलब है कि मुंबई में पिछले वर्ष नवंबर महीने में हुए चरमपंथी हमलों में 160 से ज़्यादा लोगों की जानें चली गई थीं और सैकड़ों घायल हो गए थे. इन हमलों के पीछे भारत सरकार ने पाकिस्तान में सक्रिय चरमपंथी संगठनों का हाथ होने का आरोप लगाया था.

इस सिलसिले में एक जीवित बचे हमलावर, अजमल कसाब पर भारत में मुक़दमा चल रहा है. पाकिस्तान में भी अब पांच अभियुक्तों के ख़िलाफ़ अदालत में सुनवाई शनिवार को शुरू होनी थी पर इसे अगले सप्ताह तक के लिए टाल दिया गया है.

अभियुक्तों के वकील ने बताया कि अदालत ने सुनवाई को टालने का फ़ैसला तब लिया गया जब अधिकारियों ने कहा कि मामले की सुनवाई कैमरे में भी दर्ज होनी चाहिए.

गंभीर है पाकिस्तान

पाकिस्तान के गृहमंत्री रहमान मलिक ने कहा है कि पाकिस्तान में मुंबई हमलों से जुड़े मामले की सुनवाई इस बात का सबूत है कि पाकिस्तान अपनी कही बातों के प्रति गंभीर है.

उन्होंने कहा कि भारत की ओर से नकारात्मक टिप्पणियों और बयानों के बावजूद पाकिस्तान ने इस मामले की सुनवाई का फैसला लेकर अपनी गंभीरता साबित की है.

शनिवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री से भी इस सिलसिले में पाकिस्तान के कुछ पत्रकारों ने सवाल जवाब किए. उनसे पूछा गया कि क्या मुंबई से जुड़े मामले की शुरुआत ऐसे वक़्त में होना, जब दोनों देशों की ओर से संयु्क्त बयान हाल ही में आया है, भारत के प्रति अपनी सकारात्मक सोच साबित करने का प्रयास है.

इसपर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गिलानी ने कहा कि ऐसा केवल इत्तेफ़ाक की बात है कि मामले की सुनवाई भी तभी शुरू हो रही है जब दोनों ओर से बातचीत की पहल हुई है.

उन्होंने साफ़ किया कि इस मामले में जाँच का काम पाकिस्तान में बहुत पहले से चल रहा है और इसका बयान आने के समय से कोई संबंध नहीं है.

संबंधित समाचार