अशरफ़ ग़नी का जीवन परिचय

अशरफ़ ग़नी अफ़ग़ानिस्तान के वित्त मंत्री रह चुके हैं और इस बार राष्ट्रपति चुनाव में उम्मीदवार हैं.

1949 में जन्मे अशरफ़ ग़नी ने बचपन में काबुल में पढ़ाई की और पढ़ने के लिए अमरीका की कोलंबिया यूनिवर्सिटी गए. उन्होंने अमरीका के कई विश्वविद्यालयों में पढ़ाया भी है.

उनका परिवार कई सालों तक निर्वासन में रहा.

वे संयुक्त राष्ट्र में बतौर सलाहकार काम कर चुके हैं.चीन, भारत, रूस समेत कई देशों में वे वर्ल्ड बैंक की योजनाओं पर काम कर चुके हैं.

2002 में जब अमरीका के समर्थन से हामिद करज़ई राष्ट्रपति बने तो वे अफ़ग़ानिस्तान लौट आए और वे करीब ढाई साल वित्त मंत्री रहे. इस दौरान उन्होंने अंतरराष्ट्रीय मंच पर अफ़ग़ानिस्तान के लिए 28 अरब डॉलर से भी ज़्यादा की धनराशि जुटाई.

उन्होंने अफ़ग़ान अर्थव्यवस्था में कई सुधार भी लागू किए. जब 2004 में करज़ई राष्ट्रपति चुनाव जीत गए तो उन्होंने सरकार का हिस्सा बनने से इनकार दिया. उन्हें काबुल विश्वविद्यालय का चांसलर बना दिया गया.

मीडिया में बतौर टीकाकार उन्हें काफ़ी अनुभव है. जब 2006 में कोफ़ी अन्नान की जगह संयुक्त राष्ट्र महासचिव के लिए चुनाव होना था तो अशरफ़ ग़नी भी एक उम्मीदवार थे.

मई 2009 में उन्होंने अपना नाम अफ़ग़ान राष्ट्रपति चुनाव के उम्मीदवार के रूप में दाखिल किया.

संबंधित समाचार