ओबामा ने की अफ़ग़ानों की तारीफ़

मतदान
Image caption पिछली बार से इस बार मतदान का प्रतिशत कम रहा है

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अफ़ग़ानिस्तान में हुए राष्ट्रपति चुनाव को भविष्य की ओर एक क़दम बताया है लेकिन उन्होंने चेतावनी दी है कि आगे आने वाले समय में हिंसा हो सकती है.

उन्होंने तालेबान की धमकियों के बावजूद वोट देने के लिए बाहर निकलने वाले लाखों अफ़ग़ानियों की तारीफ़ की है.

उल्लेखनीय है कि अफ़ग़ानिस्तान में गुरुवार, 20 अगस्त को राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोट डाले गए थे. वर्तमान राष्ट्रपति हामिद करज़ई और उनके प्रतिद्वंद्वी अब्दुल्ला-अब्दुल्ला दोनों के खेमों ने इन चुनावों में जीत का दावा किया है.

चुनाव के अधिकृत परिणाम दो हफ़्तों के भीतर आने की संभावना है लेकिन अनौपचारिक नतीजा मंगलवार तक आ सकता है.

चुनाव अधिकारियों का आकलन है कि इस चुनाव में 40 से 50 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मतों का प्रयोग किया है. यदि ये आंकड़े सही साबित होते हैं तो ये राष्ट्रपति पद के लिए हुए पहले चुनाव की तुलना में काफ़ी कम होंगे. 2004 में हुए पहले चुनाव में 70 प्रतिशत लोगों ने मतदान किया था.

चुनाव पर्यवेक्षकों ने इन चुनावों की सफलता का दावा किया है. तालेबान की धमकियों के बावजूद ये चुनाव अपेक्षाकृत शांतिपूर्ण रहे.

हालांकि चुनावों के बाद भी हिंसा जारी है. जलालाबाद में दो पुलिस कर्मियों और हेलमंद में दो सैनिकों के मारे जाने की ख़बरें हैं. हालांकि अधिकारियों ने कहा है कि हिंसा की इन घटनाओं का चुनाव से कोई संबंध नहीं है.

राष्ट्रपति ओबामा ने कहा है, "पिछले कुछ दिनों में, और ख़ासकर कल हमने तालेबान की ओर से जो हिंसक हमले देखे हैं, ऐसे हमले आने वाले दिनों में और हो सकते हैं."

उन्होंने कहा है कि अमरीका अफ़ग़ानिस्तान में सुरक्षा और प्रशासन को मज़बूत करने में सहयोग करेगा.

उनका कहना था, "हमारा लक्ष्य साफ़ है, अल-क़ायदा और उनके चरमपंथी सहयोगियों को परास्त करना और पराजित करना."

संबंधित समाचार