नवाज शरीफ़ के ख़िलाफ़ याचिका

नवाज़ शरीफ़
Image caption नवाज़ शरीफ़ दो बार देश के प्रधानमंत्री रह चुके हैं

पाकिस्तान में सुप्रीम कोर्ट विपक्षी पार्टी पीएमएल (एन) के नेता नवाज़ शरीफ़ के ख़िलाफ़ दायर की गई याचिका पर सुनवाई करने जा रहा है.

इस याचिका में नवाज़ शरीफ़ पर हत्या के आरोप लगाए गए हैं.

बीबीसी के हाथ जो दस्तावेज़ लगे हैं उनके अनुसार कोर्ट नवाज़ शरीफ़ के ख़िलाफ़ लगे सभी आरोपों की सुनवाई करेगा और फिर तय करेगा कि मुक़दमा आगे जारी रखा जाना है या नहीं.

याचिका में उन्हें गिरफ़्तार करने और मुक़दमा चलाने की बात कही गई है.

नवाज़ शरीफ़ ने इस बात का खंडन किया है कि उन्होंने सौदा न हो पाने के बाद मेजर ख़ालिदसईद औरक्ज़ई को मारने के आदेश दिए थे.

दो बार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री रह चुके नवाज़ शरीफ़ को गत 21 जुलाई को ही इसी तरह के आपराधिक आरोपों से बरी किया गया था.

आरोप

मृतक के भाई शाहिद औरक्ज़ई ने सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में कहा है कि 1997 में पाकिस्तान के उत्तरी शहर कोहट में उनके भाई मेजर ख़ालिदसईद औरक्ज़ई की अज्ञात बंदूकधारियों ने गोली मार कर हत्या कर दी थी.

शाहिद औरक्ज़ई एक स्वतंत्र पत्रकार हैं. उनका कहना है कि उनके भाई की हत्या इसलिए की गई क्योंकि उन्होंने एक राजनीतिक सौदे में दलाली लेने के नवाज़ शरीफ़ के मामले को उजागर कर दिया था.

दलाली का यह मामला 1993 का है और इसमें नवाज़ शरीफ़ और वरिष्ठ पार्टी नेताओं के शामिल होने के आरोप हैं.

शाहिद का कहना है कि इन नेताओं और स्वायत्त क़बायली इलाक़े (फ़ाटा) के सांसदों के बीच सौदा मेजर औरक्ज़ई ने ही करवाया था.

इस सहमति के तहत फ़ाटा के सांसदों को पीएमएलएन के उम्मीदवार को पाकिस्तान की संसद का स्पीकर बनाने के लिए समर्थन देने के लिए एक करोड़ रुपए दिए जाना तय हुआ था.

लेकिन पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के उम्मीदवार के जीत जाने के बाद पीएमएलएन पैसे देने की बात से मुकर गई.

इस घटना के बाद मेजर ख़ालिदसईद औरक्ज़ई ने इस सौदे को सार्वजनिक कर दिया और ही मुख्य चुनाव आयुक्त से कार्रवाई की मांग की.

मुख्य चुनाव आयुक्त ने इससे इनकार कर दिया और फिर ये मामला अदालत में चला गया.

अदालत ने भी माना कि ऐसा सौदा हुआ था.

शाहिद औरक्ज़ई का आरोप है कि इसके बाद नवाज़ शरीफ़ ने उनके भाई की हत्या करवा दी थी.

पीएमएलएन के प्रवक्ता एहसान इक़बाल ने इसे बकवास करार देते हुए इसे नवाज़ शरीफ़ के चरित्र -हनन की कोशिश बताया है.

संबंधित समाचार