भारत के लिए विशेष दूत पर विचार

शाह महमूद क़ुरैशी
Image caption शाह महमूद क़ुरैशी और एसएम कृष्णा न्यूयॉर्क में मिलेंगे.

पाकिस्तान ने कहा है कि वह भारत के साथ शांति वार्ता को अनौपचारिक तरीके से आगे बढ़ाने के लिए विशेष दूत की नियुक्ति पर विचार कर रहा है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने लंदन में कहा कि पूर्व वरिष्ठ राजनयिक रियाज़ मोहम्मद ख़ान को विशेष दूत नियुक्त किया जा सकता है.

हालांकि क़ुरैशी ने स्पष्ट किया कि अनौपचारिक बातचीत से तभी फ़ायदा होगा जब औपचारिक वार्ताएँ भी साथ-साथ चलें.

उन्होंने कहा, "जब माहौल इतना गर्म हो तो पर्दे के पीछे की बातचीत उपयोगी हो सकती है और पाकिस्तान इसके लिए तैयार है."

क़ुरैशी ने कहा कि अभी दोनों देशों को चाहिए कि वे एक-दूसरे पर विश्वास करें और ये तभी हो सकता है जब अनौपचारिक बातचीत के साथ औपचारिक बातचीत भी होती रहे.

क़ुरैशी और भारतीय विदेश मंत्री एसएम कृष्णा की मुलाक़ात 27 सितंबर को न्यूयॉर्क में निर्धारित है.

दोनों देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक से एक दिन पहले विदेश सचिव स्तर की वार्ता होगी.

हालांकि पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने स्पष्ट किया है कि वो इस बातचीत से कोई बड़ा निष्कर्ष निकलने की उम्मीद नहीं कर रहे हैं. उन्होंने इतना ज़रूर कहा कि न्यूयॉर्क की मुलाक़ात से भविष्य में वार्ता के लिए बेहतर माहौल बनाया जा सकता है.

पिछले साल मुंबई में हुए चरमपंथी हमलों के बाद भारत ने पाकिस्तान के साथ समग्र शांति वार्ता रद्द कर दी थी. भारत का कहना है कि ये हमले पाकिस्तान स्थित संगठनों ने ही कराए थे.

संबंधित समाचार