पाकिस्तान में दो और धमाके, 11 मरे

Image caption पेशावर लगातार चरमपंथियों के निशाने पर रहा है.

पाकिस्तान के पेशावर शहर में लगातार दो आत्मघाती हमले हुए हैं जिसमें कम से कम ग्यारह लोग मारे गए हैं.

पेशावर के पुलिस प्रमुख का कहना है कि पहला हमला एक पुलिस स्टेशन और सेना की बैरक के पास हुआ.

पुलिस प्रमुख लियाक़त अली ख़ान का कहना है पहला हमला संभवत: एक महिला ने किया है जो मोटरसाईकिल पर सवार थी.

दूसरा हमला थोड़ी देर के बाद ही कार में बैठे एक आत्मघाती हमलावर ने किया जिसमें कई लोग घायल हुए हैं.

पाकिस्तान भर में पिछले दो हफ़्तों में अब तक लगभग 150 लोग मारे गए हैं.

गुरुवार को ही पेशावर में हुए एक कार बम हमले में एक बच्ची मारी गई थी और 20 लोग घायल हो गए थे.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि शुक्रवार को हुआ धमाका शहर के भीड़भाड़ वाले इलाक़े सदर में स्थित एक पुलिस थाने के पास हुआ है.

धमाके के बाद पुलिस और सेना ने इलाक़े को घेर लिया और घायलों को अस्पताल भर्ती करवाया गया है. इलाक़े के थाना प्रभारी मोहम्मद सलीम ने बीबीसी को बताया है कि मरने वालों में आम नागरिक भी शामिल हैं और धमाके से सीआईए पुलिस की मस्जिद को भी नुक़सान पहुँचा है.

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार बुरक़ा पहनी हुई एक महिला पुलिस थाने और सैनिक चौकी के पास से गुज़री और धमाका हो गया.

लगातार हमले

गुरुवार को ही लाहौर और कोहाट शहर में सुनियोजित तरीक़े से कुछ पुलिस ठिकानों पर हमले किए गए थे जिसमें कम-से-कम 37 लोग मारे गए थे.

लाहौर में बंदूकधारियों ने संघीय जाँच एजेंसी के मुख्यालय और दो पुलिस प्रशिक्षण केंद्रों पर हमले किए थे जिसमें कम-से-कम 26 लोग मारे गए.

पश्चिमोत्तर सीमांत प्रांत के कोहाट शहर में एक पुलिस थाने के पास बम धमाका हुआ था जिसमें 11 लोगों की मौत हो गई थी.

पाकिस्तान में पिछले दो हफ़्तों में कई चरमपंथी हमले हुए हैं जिनसे डेढ़ सौ से अधिक लोगों की जान जा चुकी है.

संबंधित समाचार