काबुल में आत्मघाती बम धमाका

अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल में नैटो के नेतृत्व वाली सेनाओं के अड्डे के बाहर एक आत्मघाती बम हमला हुआ है जिसकी आवाज़ शहर के कई इलाक़ों में सुनाई दी.

एक पुलिस अधिकारी के अनुसार तीन आम नागरिक और अनेक विदेशी सैनिक इस हमले में घायल हो गए हैं.

धमाका के कारण सैन्य अड्डे के बाहर खड़े वाहनों के काफ़िले को काफ़ी क्षति पहुँची है.

एक सैन्य प्रवक्ता सार्जेंट कीविन बेल के अनुसार शुक्रवार तड़के सैन्य अड्डे कैंप फ़ीनिक्स के पास हमला हुआ जब आत्मघाती हमलावर ने कार बम धमाका किया.

कैंप फ़ीनिक्स अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी में पश्चिमी देशों की सेनाओं का मुख्य सैन्य अड्डा है जहाँ सेनाएँ अफ़ग़ान सुरक्षा कर्मियों को प्रशिक्षण देती हैं. ये काबुल-जलालाबाद सड़क पर स्थित है.

'अधेरा छा गया'

सेना ने पूरे इलाक़े की घेराबंदी कर ली है और एक अफ़ग़ान पुलिस अधिकारी के अनुसार माा जा रहा है कि कई लोग हताहत हुए हैं.

रिपोर्टों को अनुसार धमाके बाद हथियारों से गोलीबारी भी हुई है.

बम धमाके के प्रत्यक्षदर्शी, एक टैक्सी ड्राइवर नबी ने समाचार एजेंसी एपी को बताया, "एक बड़ा धमाका हुआ. अंधेरा छा गया. मैं मुश्किल से उस इलाक़ा से निकल पाया. इसके बाद पता नहीं क्या हुआ लेकिन धमाका विदेशियों को निशाना बनाकर किया गया.

अफ़ग़ानिस्तान में इस समय अमरीका के 68 हज़ार सैनिक और गठबंधन सेनाओं के दस हज़ार सैनिक मौजूद हैं.

जहाँ अमरीकी जनरल और नैटो कमांडर स्टैनली मैक्क्रिस्टल ने 40 हज़ार अतिरिक्त सैनिक तैनात करने का अनुरोध किया है वहीं अमरीकी राष्ट्रपति ने नई अफ़ग़ान रणनीति के तहत अतिरिक्त सैनिकों की तैनाती पर अभी कोई फ़ैसला लेना है.

संबंधित समाचार