हकीमुल्ला को दफ़नाया गयाः पीटीवी

हकीमुल्ला मेहसूद
Image caption हकीमुल्ला मेहसूद पिछले साल गर्मियों मे पाकिस्तानी तालेबान के नेता बनाए गए थे

पाकिस्तानी तालेबान के प्रमुख हकीमुल्ला मेहसूद के मारे जाने को लेकर फिर से नए तरह के दावे-प्रतिदावे हो रहे हैं.

पाकिस्तान के सरकारी टेलीविज़न चैनल ने ख़बर दी है कि हकीमुल्ला को दफ़ना दिया गया है.

इसके कुछ ही घंटे बाद तालेबान ने इस दावे का खंडन किया है और पत्रकारों से अपने नेता की मौत का प्रमाण सामने रखने की चुनौती दी है.

पाकिस्तानी सेना ने कहा है कि वह अभी इस बारे में कोई पुष्टि नहीं कर सकती और वह अभी अपने एजेंटों से जानकारी ले रही है.

हकीमुल्ला मेहसूद के मारे जाने की ख़बर पिछले कुछ सप्ताह से चल रही है और कहा जा रहा है कि 14 जनवरी को एक चालकरहित विमान से हुए हमले में उनकी मौत हो गई थी.

बताया जा रहा है कि उत्तरी वज़ीरिस्तान में शक्टोइ क्षेत्र में एक परिसर के भीतर किए गए इस हमले में 10 संदिग्ध चरमपंथी मारे गए थे.

पिछले साल अगस्त में इसी तरह के एक हमले में पाकिस्तानी तालेबान के तत्कालीन प्रमुख बैतुल्ला मेहसूद की मौत हो गई थी.

तालेबान ने बैतुल्ला की मौत की ख़बर आने के कई हफ़्ते बाद जाकर इसको स्वीकार किया था.

बैतुल्ला की मौत के बाद हकीमुल्ला मेहसूद को पाकिस्तानी तालेबान का नेता बनाया गया था.

दावे

पाकिस्तान के सरकारी टीवी चैनल पीटीवी ने बिना किसी स्रोत का हवाला दिए हकीमुल्ला मेहसूद के दफ़नाए जाने की ख़बर प्रसारित की है.

वहीं समाचार एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस ने भी एक क़बायली नेता को ये कहते हुए बताया है कि उसने गुरूवार को ओरकज़ई इलाक़े में हकीमुल्ला मेहसूद की अंत्येष्टि में हिस्सा लिया.

एजेंसी के अनुसार इस नेता ने नाम ना बताने की शर्त पर ये जानकारी दी है.

लेकिन तालेबान के मुख्य प्रवक्ता आज़म तारिक़ ने अपने नेता की मौत की ख़बरों का खंडन किया है और अपने नेता की मौत का दावा करनेवालों से प्रमाण माँगा है.

प्रवक्ता ने एक अज्ञात स्थान से फ़ोन पर समाचार एजेंसी एएफ़पी से कहा,"हकीमुल्ला जीवित और सुरक्षित हैं. उनकी मौत की अफ़वाह उड़ाने का उद्देश्य तालेबान में फूट डालना है मगर ऐसे लोग कभी क़ामयाब नहीं होंगे."

प्रवक्ता ने ज़ोर देकर कहा है कि तालेबान ने 14 जनवरी के बाद से हकीमुल्ला मेहसूद के दो ऑडियो टेप जारी किए हैं.

इस सबके बीच एक और समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने पाकिस्तानी ख़ुफ़िया अधिकारियों के हवाले से ख़बर दी है कि 17 जनवरी को चालकरहित विमान से एक और हमला हुआ था और हकीमुल्ला संभवतः उस हमले में मारे गए.

इन अधिकारियों का कहना है कि उनके पास आई ख़बर के अनुसार चरमपंथियों के दो वाहनों पर हमले हुए और इसमें घायल होने के बाद हकीमुल्ला की मौत हो गई हो सकती है.

संबंधित समाचार