करज़ई अपने रुख़ से पीछे हटे

हामिद करज़ई
Image caption करज़ई के पक्ष में पड़े एक तिहाई वोट अवैध पाए गए थे.

अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करज़ई चुनाव शिकायत आयोग में दो विदेशियों को शामिल करने पर राज़ी हो गए हैं.

अफ़ग़ानिस्तान में पिछले साल सितंबर में संसदीय चुनाव हुए थे जिनमें बड़े पैमाने पर धाँधली के आरोप लगाए गए थे.

इसके बाद राष्ट्रपति करज़ई ने चुनाव शिकायत आयोग गठित करने का फ़ैसला किया था लेकिन इसमें किसी बाहर सदस्यों को शामिल करने से उन्होंने मना कर दिया था.

करज़ई ने आयोग में पाँच सदस्यों को शामिल करने की बात कही थी जिनका चयन वे ख़ुद करने वाले हैं.

लेकिन उनके इस क़दम की आलोचना हुई और कहा जाने लगा कि वे चुनाव शिकायत आयोग पर ख़ुद का नियंत्रण स्थापति करना चाहते हैं.

चुनाव में धांधली

संसदीय चुनाव में करज़ई के पक्ष में पड़े एक तिहाई मतों को अवैध पाया गया था.

लेकिन शनिवार को करज़ई के एक प्रवक्ता ने कहा कि इसमें दूसरे देशों के सदस्य शामिल हो सकते हैं.

प्रवक्ता वहीद उमर का कहना था, "अफ़ग़ान सरकार दो ग़ैर अफ़ग़ानियों को चुनाव शिकायत आयोग में नियुक्त करने के लिए तैयार है और इस बारे में संयुक्त राष्ट्र को बता दिया गया है."

हालाँकि आयोग में अभी भी अफ़ग़ानी ही बहुमत में होंगे.

इससे पहले तय हुआ था कि संयुक्त राष्ट्र पाँच में से तीन सदस्यों की नियुक्ति करेगा लेकिन करज़ई दो बाहरी सदस्यों पर राज़ी हुए हैं.

संबंधित समाचार