पाकिस्तान में तीन हमले, 13 की मौत

ड्रोन
Image caption अमरीका पाकिस्तान के विरोध के बावजूद वर्ष 2008 से ड्रोम हमले कर रहा है

पाकिस्तान के उत्तरी वज़ीरिस्तान में दो ड्रोन हमलों में आठ चरमपंथी मारे गए हैं वहीं पेशावर शहर के नज़दीक सुरक्षाकर्मियों पर हुए एक अन्य हमले में पांच पुलिस वालों की जान चली गई है.

दोनों ड्रोन हमलों में आठ चरमपंथी मारे गए हैं और छह चरमपंथी घायल हुए हैं.

वज़ीरिस्तान के अधिकारियों के अनुसार पहला हमला बुधवार की सुबह मीरानशाह से लगभग 20 किलोमिटर दूर दत्ता ख़ेल तहसील के एक गांव में हुआ. इस हमले में तीन चरमपंथी मारे गए.

दूसरा हमला मीरानशाह के ही इलाक़े टोची में किया गया जिसमें पांच चरमपंथी मारे गए.

अधिकारियों और प्रत्यक्षदर्शियों नें बीबीसी को बताया कि मरने वाले सभी चरमपंथी 'हफ़ीज़ गुल बहादुर' गुट के हैं.

मंगलवार को हुए ड्रोन हमले में भी इसी गुट के आठ संदिग्धों के मारे जाने आशंका है.

अगस्त, 2008 से अमरीका इन क्षेत्रों में ड्रोन हमले कर रहा है जिसमें अब तक सैकड़ों जानें गई हैं. इनमें आम नागरिक और चरमपंथी दोनों शामिल है.

अन्य हमला

एक अन्य हमला सूबा सरहद के पेशावर में हुआ जहाँ दस से अधिक बंदूकधारियों ने पुलिस चेकपोस्ट पर धावा बोल दिया जिसमें पांच सुरक्षाकर्मी मारे गए हैं.

इस हमलें एक सुरक्षाकर्मी घायल भी हुआ है जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

हमला पेशावर से सटे सबीन क़बर स्थित पुलिस चेकपोस्ट पर हुआ.

इस हमले का किसी भी संगठन ने ज़िम्मेदारी नहीं ली है.

संबंधित समाचार