'ड्रोन हमले में अल क़ायदा नेता मारे गए'

ड्रोन
Image caption अमरीका पाकिस्तान के विरोध के बावजूद वर्ष 2008 से ड्रोम हमले कर रहा है

अमरीकी अधिकारियों का मानना है कि अफ़ग़ानिस्तान में सीआईए के अड्डे पर हमला करने के लिए ज़िम्मेदार अल क़ायदा नेता हुसैन अल येमेनी एक ड्रोन हमले में मारे गए हैं.

ये हमला पाकिस्तान के मीरानशान में किया गया.

माना जाता है कि उन्होंने दिसंबर में खोस्त में सीआईए के एक अड्डे पर आत्मघाती हमले की योजना को अंजाम दिया था.

इस हमले में सात सीआईए एजेंट और एक जोर्डेन का अधिकारी मारा गया था.

अमरीकी अधिकारी का कहना था कि येमेनी को बम धमाकों और आत्मघाती हमलों में दक्षता हासिल थी.

मंगलवार को भी ड्रोन हमला हुआ था जिसमें आठ लोगों के मारे जाने ख़बरें है.

उल्लेखनीय है कि अगस्त, 2008 से अमरीका इन क्षेत्रों में ड्रोन हमले कर रहा है जिसमें अब तक सैकड़ों जानें गई हैं.

इनमें आम नागरिक और चरमपंथी दोनों शामिल है.

कई बार इन हमलों में आम नागरिक मारे गए हैं जिस पर अफ़ग़ानिस्तान और पाकिस्तान के नेतृत्व ने कड़ी आपत्ति जताई है.

संबंधित समाचार