चार देशों से जुड़े साहिल के अपहरण के तार

साहिल सईद
Image caption साहिल को तीन मार्च को झेलम से अग़वा किया गया था

स्पेन की पुलिस का कहना है कि पाकिस्तान में अगवा किए गए साहिल सईद को रिहा कराने के लिए एक लाख 10 हज़ार पाउंड की फिरौती दी गई.

साहिल के पिता को स्पेन से टेलीफ़ोन कर कहा गया था कि वे पहले मैनचेस्टर पहुँचे और वहाँ से पेरिस, वहाँ पुलिस ने उन्हें एक सड़क पर पैसा सौंपते हुए देख लिया.

साहिल का तीन मार्च को अपहरण कर लिया गया था और 13 दिन बाद उसे 16 मार्च को उसे रिहा कर दिया गया था.

फिरौती का भुगतान

स्पेन की पुलिस का कहना है कि शुरुआती टेलीफ़ोन में साहिल के परिवार को फिरौती का भुगतान करने के लिए तीन दिन का समय दिया गया था.

स्पेन से टेलीफ़ोन आने के बाद अंतरराष्ट्रीय पुलिस एजेंसी इंटरपोल ने वहाँ के अधिकारियों को सतर्क कर दिया था.

इसकी सूचना फ़्रांस की पुलिस को भी दी गई.

फिर पैरिस में साहिल के पिता राजा सईद का पीछा कर रही पुलिस ने देखा कि वे पैसों से भरा बैग सौंप रहे हैं. इसे एक बैग और ट्रॉली में अलग-अलग किया गया.

फ़्रांस की पुलिस ने उनका स्पेन की सीमा तक पीछा किया.

स्पेन की पुलिस ने इस मामले में मंगलवार को बर्सिलोना से 60 किलोमीटर दूर कॉंसटैंटी के एक फ्लैट पर छापा मारकर पाकिस्तान के दो पुरुषों और रोमानिया की एक महिला को गिरफ़्तार कर लिया.

पुलिस ने वहाँ से कुल एक लाख 10 हज़ार पाउंड, एक कंप्यूटर और कुछ मोबाइल फ़ोन बरामद किए हैं जिनका प्रयोग साहिल के पिता से फिरौती माँगने में किया गया था.

इस समूह के दो लोग फिरौती की रकम वसूलने के लिए पेरिस गए थे और जब वे स्पेन लौटे तो उन्हें गिरफ़्तार कर लिया गया.

स्पेन की पुलिस ने जिन तीन लोगों को इस मामले में गिरफ़्तार किया है उन्हें गुरुवार को अदालत में पेश किया जाएगा.

पेरिस में भी गिरफ़्तारी

बीबीसी की मैड्रिड संवाददाता सारा रेंसफ़ोर्ड का कहना है कि दो लोग पेरिस में भी गिरफ़्तार किए गए हैं और पुलिस मामले की जाँच कर रही है.

स्पेन पुलिस के हिसंक अपराध विभाग के प्रमुख सेनाफ़िन कैस्ट्रो ने संवाददाताओं को बताया कि यह गिरफ़्तारी फ़्रांसीसी, स्पेन और ब्रितानी पुलिस के एक संयुक्त अभियान के तहत की गई.

उन्होंने बताया कि गिरफ़्तारी की फ़ैसला तब किया गया जब पुलिस को यह सूचना मिल गई कि साहिल को पाँच बजे रिहा कर दिया गया है.

उन्होंने कहा, ''हमने इन तीन लोगों को एक न्यायिक सचिव की मौज़ूदगी में गिरफ़्तार किया और फ़्लैट की तलाशी ली.''

उधर, पाकिस्तान के गृहमंत्री रहमान मलिक ने कहा कि पाकिस्तान में भी इस नेटवर्क के एक व्यक्ति को पैसे का भुगतान किया गया.

उन्होंने बताया कि जिसे पैसे का भुगतान किया गया उससे बच्चे के बारे में सूचना देने के बदले और पैसे देने का वादा किया गया था जिससे की बच्चे की रिहाई हो सके.

साहिल सईद का तीन मार्च को पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के झेलम में उनके दादा के घर से कुछ बंदूक़धारी लोगों ने अपहरण कर लिया था.

साहिल सईद पाकिस्तानी मूल के ब्रितानी नागरिक हैं और उनके माता पिता ऑल्डहेम में रहते हैं.साहिल के अपहरण के बाद से ही ये मामला काफ़ी चर्चा में था.

संबंधित समाचार