करज़ई को सिर्फ़ एक चौथाई समर्थन

हामिद करज़ई

हामिद करज़ई के चुनाव को लेकर भी काफ़ी विवाद रहा था

अमरीकी रक्षा मंत्रालय का कहना है कि अफ़ग़ानिस्तान के जिन इलाक़ों को वे अहम मानते हैं उनमें से सिर्फ़ एक चौथाई में ही राष्ट्रपति हामिद करज़ई की सरकार को समर्थन हासिल है.

पेंटागन का कहना है कि देश का ज़्यादातर हिस्सा केंद्रीय सरकार को लेकर या तो उदासीन है या फिर तालेबान विद्रोहियों के साथ है.

रक्षा मंत्रालय की रिपोर्ट में कहा गया है कि सरकार पर भरोसा न करने के लिए लोगों ने भ्रष्टाचार और अधिकारियों की अक्षमता को मुख्य कारण बताया है.

इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि पिछले कुछ सालों में अफ़ग़ानिस्तान में हिंसा भी बहुत अधिक रही है.

यह रिपोर्ट ऐसे समय में जारी की गई है जब राष्ट्रपति हामिद करज़ई 10 से 14 मई के बीच अपनी अमरीका यात्रा की तैयारी कर रहे हैं.

रिपोर्ट

पेंटागन ने अफ़ग़ानिस्तान में अमरीकी हमले के आठ साल पर 152 पृष्ठों की यह रिपोर्ट संसद के लिए तैयार की है.

भ्रष्टाचार ख़त्म करने के मुद्दे पर अफ़ग़ानिस्तान में थोड़ी प्रगति हुई है लेकिन वास्तविक परिवर्तन, ख़ासकर राजनीतिक इच्छाशक्ति अभी भी संदेहास्पद है

रिपोर्ट

इस रिपोर्ट में कमियों के अलावा तालेबान पर दबाव बढ़ने और अपनी सुरक्षा को लेकर लोगों की घटी चिंता जैसी बातों का भी ज़िक्र किया गया है.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार अधिकारियों का कहना है कि भ्रष्टाचार एक ऐसा मुद्दा है जिसकी वजह से अफ़ग़ान नागरिकों का विश्वास जीतने की नैटो की सेनाओं की कोशिशों और तालेबान को हाशिए पर डालने के प्रयासों पर नकारात्मक असर पड़ रहा है.

रिपोर्ट में कहा गया है, "भ्रष्टाचार ख़त्म करने के मुद्दे पर अफ़ग़ानिस्तान में थोड़ी प्रगति हुई है लेकिन वास्तविक परिवर्तन, ख़ासकर राजनीतिक इच्छाशक्ति अभी भी संदेहास्पद है."

अधिकारियों का आकलन है कि अफ़ग़ानिस्तान के 121 महत्वपूर्ण ज़िलों में से सिर्फ़ 29 पर हामिद करज़ई की सरकार को लोगों का समर्थन हासिल है.

यह रिपोर्ट ऐसे समय में आई है जब हामिद करज़ई ने पिछले कुछ हफ़्तों में अमरीकी और पश्चिमी देशों पर तीखे प्रहार किए हैं और दखलंदाज़ी न करने की सलाह देते हुए कहा है कि सहयोग और कब्ज़े में बहुत महीन फ़र्क होता है.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.