उड़ान संबंधी नियम कड़े हुए

फ़ैसल शहज़ाद
Image caption पाकिस्तान की सरकार शहज़ाद के माता-पिता पर नज़र रखे हुए है

अमरीका में टाइम्स स्कवेयर में बम हमले की विफल कोशिश के बाद वहाँ उड़ान संबंधी नियम और कड़े कर दिए गए हैं.

अधिकारियों के मुताबिक सभी एयरलाइनों से कहा गया है कि जब सरकार उन्हें संदिग्ध लोगों की सूची के बारे में अपडेट करती है तो इसके दो घंटे के अंदर उन्हें नो-फ़्लाई सूची देखनी होगी.

यानी उन लोगों के बारे में जानना होगा जिन्हें उड़ान भरने की अनुमति नहीं है. अब तक नियम ये था कि एयरलाइनों को हर दिन नो-फ़्लाई लिस्ट में बदलाव पर नज़र रखनी होती थी.

नए नियम का मकसद ये है कि संदिग्ध लोग विमान में न चढ़ सकें जैसे कि 30 वर्षीय शहज़ाद सोमवार को करने में सफल हो गया था.

विफल हमले के बाद शाम को शहज़ाद दुबई जाने वाली एमरेट्स की उड़ान के लिए टिकिट खरीदने में कामयाब रहे थे और जीएफ़के हवाईअड्डे पर सुरक्षा जाँच के दौरान भी वे पकड़ में नहीं आए.

यूएई सरकार का कहना है कि वे पाकिस्तान जा रहे थे और दुबई में वे उड़ान बदलने वाले थे.

हमले की कोशिश का आरोप

पाकिस्तानी मूल के अमरीकी नागरिक पर आरोप है कि उन्होंने टाइम्स स्कवेयर में कार बम में विस्फोट करने की कोशिश की थी.

उन पर आतंकवाद और विस्फोटक रखने के आरोप हैं जिसमें विनाशकारी हथियार इस्तेमाल करने की कोशिश का आरोप शामिल है.

अदालत से जुड़े अधिकारी अभी ये नहीं बता रहे हैं कि शहज़ाद को जज के सामने कब पेश किया जाएगा. माना जा रहा है कि जाँचकर्ताओं को शहज़ाद से काफ़ी जानकारी मिल रही है.

जाँचकर्ताओं के मुताबिक शहज़ाद ने बताया है कि दिसंबर में हमले की योजना बनाने के बाद से वे इस सब में अकेले ही काम कर रहे थे.

लेकिन कोर्ट के दस्तावेज़ दिखाते हैं कि शहज़ाद ने माना है कि पाकिस्तान के वज़ीरिस्तान इलाक़े में उसने प्रशिक्षण लिया है.

ऐसा समझा जा रहा है कि जब शहज़ाद ने चेक-इन किया तो अधिकारियों ने ताज़ा नो-फ्लाई

लिस्ट नहीं देखी जो सरकार ने जारी की थी. बिल्कुल अंतिम मौके पर उड़ान को रोका गया और शहज़ाद को पकड़ा गया था.

संबंधित समाचार